माहौल बिगड़ सकता था इसलिए दर्ज की गई एफआईआर: एसपी

 

भीलवाड़ा (हलचल)। 11 अप्रैल को कोटड़ी चारभुजानाथ के तुलसी विवाह में विधायकों व जनप्रतिनिधियों सहित 33 अन्य लोगों के खिलाफ एफआईआर इसलिए की गई है क्योंकि उन लोगों ने धारा 188 की अवहेलना की है। इसका मतलब यह है कि माहौल बिगड़ सकता था। यह कहना है जिला पुलिस अधीक्षक आदर्श सिधू का। वे बुधवार को जिला कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में बोल रहे थे।
11 अप्रैल को कोटड़ी चारभुजानाथ के तुलसी विवाह में हुए हंगामे के दो दिन बाद बुधवार को पुलिस प्रशासन की ओर से प्रेसवार्ता आयोजित की गई। जिला कलेक्ट्रेट के सभागार में आयोजित प्रेसवार्ता में जिला कलेक्टर आशीष मोदी व जिला पुलिस अधीक्षक आदर्श सिधू ने पत्रकारों से बातचीत की।
प्रेसवार्ता में एसपी आदर्श सिधू ने कहा कि 11 अप्रैल को कोटड़ी चारभुजानाथ के तुलसी विवाह के आयोजन को लेकर पहले ही पुलिस प्रशासन व आयोजक के बीच बात व नियम-शर्तें तय हो गए थे। चूंकि कोराना संक्रमण होने के बाद दो साल बाद यह शोभायात्रा निकलनी थी इसलिए हर पहलू को क्लीयर किया गया था। आयोजकों ने जो रूट मांगा, वह हमने उन्हें दिया। इसके बाद तय किए गए कार्यक्रम अनुसार पुलिस व्यवस्था की गई।
एसपी ने कहा कि आयोजक ने जो व्यवस्थाएं करने का वादा किया था, वे वहां नहीं थीं। इसी बीच कुछ लोग दूसरे रूट से जाने की मांग करने लगे जिसकी अनुमति देना संभव नहीं था फिर भी अंतिम समय पर पुलिस प्रशासन ने रूट डायवर्ट कर शोभायात्रा को गंतव्य तक शांतिपूर्वक पहुंचाया। एसपी ने अपील की कि कोई भी शोभायात्रा या जुलूस निकालना चाहें तो बेशक निकालें लेकिन इसके लिए पुलिस प्रशासन की अनुमति व तय नियम-शर्तों का पालन करना अनिवार्य है।
प्रेसवार्ता में जिला कलक्टर आशीष मोदी ने कहा कि सरकार व प्रशासन की जिम्मेदारी होती है कि वे लोगों तक व्यवस्थाएं पहुंचाए। यह प्राचीनकाल से चला आ रहा है कि जुलूस या शोभायात्रा से पहले पुलिस प्रशासन को इसकी जानकारी देनी होती है। 11 अप्रैल को तुलसी विवाह की शोभायात्रा में 2500 लोग कोटड़ी से और 1500 लोग स्थानीय शामिल होने की संभावना थी। इसी को देखते हुए पुलिस प्रशासन ने व्यवस्थाएं की थीं। आयोजक ने तय नियम शर्तों का पालन नहीं किया और वादाखिलाफी की। पुलिस प्रशासन ने संयम का परिचय देते हुए कार्यक्रम शांतिपूर्वक संपन्न कराया। उन्होंने कहा कि कोई भी धर्म या संगठन शोभायात्रा या जुलूस निकालना चाहें तो 72 घंटे पूर्व प्रशासन से संपर्क करें ताकि पुलिस प्रशासन की ओर से व्यवस्थाएं की जा सके। हम लोगों के साथ हैं।

 

 

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

देवा गुर्जर की गैंगवार में हत्या, विरोध में रोडवेज बस में लगाई आग !

देवा गुर्जर हत्या का मुख्य आरोपी दुर्गा गुर्जर गिरफ्तार 3 साथी भी पकड़े गए

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक

शराब के नशे में महिला सहित 4 लोगों ने किया तमाशा वीडियो वायरल

आदर्श तापड़िया मर्डर: परिजनों से समझाइश का दूसरा दौर शुरू

मांडल में विवादित कुर्क जमीन मामले को लेकर जुटी भीड़, पुलिस ने लाठियां भांज कर दो किलोमीटर तक खदेड़ा,बाजार बंद

हत्या पर हंगामा, देवा गुर्जर के समर्थकों ने फूंकी बस, मॉर्चरी के बाहर बरसाए पत्थर