पेट्रोल-डीजल पर वैट कम करने की PM की सलाह पर CM गहलोत का पलटवार: BJP शासित राज्यों में दाम ज्यादा, मोदी भोपाल भूल गए

 


जयपुर ।मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने पेट्रोल-डीजल पर वैट कम करने की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सलाह पर पलटवार किया है। सीएम गहलोत ने गुरुवार को पीएम की वीसी के बाद देर रात ट्वीट कर पीएम मोदी पर निशाना साधा है। सीएम गहलोत ने ट्वीट कर लिखा-प्रधानमंत्री ने जयपुर का नाम तो लिया , परंतु वो संदेश भाजपा शासित राज्यों को देना चाह रहे थे। क्योंकि भोपाल में आज भी पेट्रोल-डीजल की कीमतें जयपुर से अधिक है। संभवत: भूलवश ने उन्होंने भोपाल को जयपुर बोल दिया। सीएम गहलोत ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने राज्यों के वैट की बात की, लेकिन केन्द्र सरकार के एक्साइज की जानकारी नहीं दी मई 2014 में जब नरेन्द्र मोदी प्रधानमंत्री बने तब पेट्रोल पर प्रति लीटर 9.20 रुपए और डीजल पर 3.46 रुपए प्रति लीटर एक्साइज ड्यूटी लगती थी, लेकिन आज पेट्रोल पर 27.90 रुपए प्रति लीटर और डीजल पर 21.80 रुपए प्रति लीटर एक्साइज ड्यूटी लगती है. यूपीए सरकार के समय राज्यों को एक्साइज ड्यूटी में से हिस्सा मिलता था, लेकिन अब राज्यों को मिलने वाला हिस्सा लगातार कम होकर महज कुछ पैसे प्रति लीटर रह गया है. इसलिए राज्य अपना वैट बढ़ाने के लिए मजबूर हुए हैं।

केंद्र ने एक्साइज ड्यूटी में नहीं की क

सीएम गहलोत ने कहा कि राजस्थान सरकार ने 29 जनवरी, 2021 को पेट्रोल और डीजल पर 2 प्रतिशत वैट कम किया था जबकि उस समय केन्द्र ने एक्साइज ड्यूटी में कोई कमी नहीं की थी। केन्द्र सरकार ने तो इसके दो दिन बाद 2021-22 के बजट में डीजल पर 4 रुपए एवं पेट्रोल पर 2.5 रुपए प्रति लीटर का एग्रीकल्चर इंफ्रास्ट्रक्चर एंड डवलपमेंट नाम से नया सेस लगा दिया। इससे जरूर राजस्थान की जनता को 2 प्रतिशत वैट कम करने का लाभ नहीं मिल पाया। गहलोत ने कहा कि 4 नवंबर, 2021 को केन्द्र सरकार ने पेट्रोल पर 5 रुपए एवं डीजल पर 10 रुपए प्रति लीटर एक्साइज ड्यूटी में कमी की थी।

लॉकडाउन में केंद्र ने एक्साइज ड्यूटी बढ़ाई

सीएम गहलोत ने कहा कि कोविड लॉकडाउन के दौरान मई, 2020 में केन्द्र सरकार ने पेट्रोल पर 10 रुपए एवं डीजल पर 13 रुपए प्रति लीटर एक्साइज ड्यूटी बढ़ाई थी। यानी जितनी एक्साइज ड्यूटी कोविड में बढ़ाई गई, उसको भी पूरा कम नहीं किया गया. राज्यों का वैट, केन्द्र की एक्साइज ड्यूटी के ऊपर लगता है। यानी एक्साइज ड्यूटी कम करने से वैट स्वत ही कम हो जाता है। इस कारण से 4 नवंबर, 2021 को एक्साइज ड्यूटी कम होने से राजस्थान सरकार का पेट्रोल पर 1.80 रुपए प्रति लीटर और डीजल पर 2.60 रुपए प्रति लीटर वैट स्वत कम हो गया. आमजन को राहत देने के लिए प्रदेश सरकार ने 17 नवंबर, 2021 पेट्रोल पर 4.96 प्रतिशत और डीजल पर 6.70 प्रतिशत वैट और कम किया। तीनों बार की गई इस कमी से प्रतिवर्ष करीब 6300 करोड़ रुपए की राजस्व हानि हुई। लेकिन PM ने कर्नाटक के 6000 करोड़ और गुजरात के 3500-4000 करोड़ की राजस्व हानि का ही जिक्र किया। इन दोनों राज्यों का जिक्र संभवत वहां आ रहे विधानसभा चुनावों को देखते हुए किया होगा

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

देवा गुर्जर की गैंगवार में हत्या, विरोध में रोडवेज बस में लगाई आग !

देवा गुर्जर हत्या का मुख्य आरोपी दुर्गा गुर्जर गिरफ्तार 3 साथी भी पकड़े गए

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक

शराब के नशे में महिला सहित 4 लोगों ने किया तमाशा वीडियो वायरल

आदर्श तापड़िया मर्डर: परिजनों से समझाइश का दूसरा दौर शुरू

मांडल में विवादित कुर्क जमीन मामले को लेकर जुटी भीड़, पुलिस ने लाठियां भांज कर दो किलोमीटर तक खदेड़ा,बाजार बंद

हत्या पर हंगामा, देवा गुर्जर के समर्थकों ने फूंकी बस, मॉर्चरी के बाहर बरसाए पत्थर