20 दिन पहले घर से लापता हुआ था चालक, खुद के खेत पर लटका मिला शव, फैली सनसनी

 

 भीलवाड़ा बीएचएन। 20 दिन पहले घर से लापता युवक की लाश गुरुवार को उसी के खेत पर नीम के पेड़ से लटकी मिली। शव, मृतक की पत्नी ने देखा तो उसकी चीत्कार फूट पड़ी। बाद में पुलिस मौके पर पहुंची और शव को कब्जे में लेकर राजकीय अस्पताल पहुंचाया, जहां उसका पोस्टमार्टम किया जा रहा है। अभी तक मौत के कारण स्पष्ट नहीं हुये हैं, लेकिन पुलिस प्रथमदृष्टया इसे खुदकुशी मान रही है। वास्तविकता पोस्टमार्टम रिपोर्ट से सामने आ पायेगी।  
सहायक उप निरीक्षक कमलेश कुमार ने बीएचएन को बताया कि जोरावरपुरा निवासी शिवलाल 32 पुुत्र अमरचंद शर्मा पेशे से चालक था।  वह 20 दिन पहले अपने घर से निकला था। इससे पहले उसने अपना मोबाइल, पर्स आदि सभी आवश्यक दस्तावेज घर में रख दिये थे। इसके बाद वह लौटकर नहीं आया। परिजन, यह सोच कर कि वह वाहन लेकर बाहर चला गया होगा, उसकी तलाश नहीं की। क्यूंकि एक दफा पूर्व में भी वह बिना बताये गायब हो चुका था। 
गुरुवार को शिवलाल की पत्नी मंजू खेत पर चारा लेने गई। जहां उसे पति शिवलाल का शव रस्से के सहारे नीम के पेड़ से लटका नजर आया। यह देखकर उसकी चीत्कार फूट पड़ी। आस-पास के लोग मौके पर पहुंचे। परिजन भी वहां आ गये। सूचना पर एएसआई कमलेश कुमार मौके पर पहुंचे और आवश्यक कार्रवाई के बाद शव को फं दे से नीचे उतारा। पुलिस का कहना है कि लाश 20 दिन पुरानी है जो सूख चुकी है। उधर, परिजनों ने एक बारगी शव का पोस्टमार्टम करवाने से इनकार कर दिया, लेकिन बाद में समझाइश पर वे, मान गये। ऐसे में शव को सीएचसी बागौर ले जाया गया, जहां उसका पोस्टमार्टम किया जा रहा है। पुलिस का कहना है कि प्रारंभिक तौर पर शिवलाल की मौत खुदकुशी प्रतीत हो रही है। वास्तविक कारण पोस्टमार्टम रिपोर्ट से सामने आ पायेंगे। 

एक भाई की कोरोना से हो चुकी है पहले ही मौत
पुलिस ने परिवारजनों के हवाले से बताया कि शिवलाल दो भाइयों में से एक था। शिवलाल की पेड़ से लटकी लाश मिली हैं। वहीं शिवलाल से पहले उसके एक भाई की कोरोना काल में कोरोना से मौत हो गई थी। इस घटना से गांव में शोक छा गया। 

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

महिला से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में एक आरोपित गिरफ्तार

घर-घर में पूजी दियाड़ी, सहाड़ा के शक्तिपीठों पर विशेष पूजा अर्चना