आगामी बैठक तक इंदिरा रसोई में भोजन वितरण को 20 प्रतिशत बढ़ाने को कहा


भीलवाड़ा, । जिला कलक्टर आशीष मोदी की अध्यक्षता में इंदिरा रसोई योजना की जिला स्तरीय समन्वय एवं मॉनिटरिंग समिति की बैठक बुधवार को जिला कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित हुई।

बैठक में नवीन इंदिरा रसोइयों के लिए संचालक संस्था के साथ अनुबंध तथा उनके लिए सामग्री क्रय करने व आपूर्ति स्थिति, नवीन इंदिरा रसोइयों में प्लेटफार्म एवं अन्य निर्माण की स्थिति पर चर्चा की गई।

जिला कलक्टर  आशीष मोदी ने पूर्व संचालित इंदिरा रसोइयों प्रगति की समीक्षा लेकर आवश्यक दिशा निर्देश दिए।

उन्होंने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की ‘‘कोई भूखा ना सोये‘‘ संकल्पना को साकार करने के लिए आमजन में इंदिरा रसोई योजना के अधिकाधिक प्रचार करने को कहा। उन्होंने इंदिरा रसोईयों की कम प्रगति एवं प्रायोजित भोजन की संख्या कम होने पर नाराजगी जताई तथा इसे आगामी मासिक बैठक से पूर्व 20 प्रतिशत की बढोतरी करने के निर्देश दिये।

जिला कलक्टर ने बैठक में अधिकारियों को नियमित रूप से इंदिरा रसोइयों का निरीक्षण करने के निर्देश दिए। श्री मोदी ने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ मुस्ताक खान को महीने में 2 बार इंदिरा रसोइयों में भोजन की गुणवत्ता की जांच करने को कहा।

उन्होंने बैठक में उपस्थित अधिकारियों को महीने में कम से कम एक बार इंदिरा रसोइयों में स्वयं भोजन करने को कहा ताकि भोजन की गुणवत्ता भी परखी जा सके।

बैठक में नगर परिषद आयुक्त श्रीमती दुर्गा कुमारी, जिला कोषाधिकारी रेखा शर्मा, इंदिरा रसोई डीपीओ श्री अमृत खोईवाल व जिले के नगर पालिका अधिशाषी अधिकारी सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहे।

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

मुंडन संस्कार से पहले आई मौत- बेकाबू बोलेरो की टक्कर से पिता-पुत्र की मौत, पत्नी घायल, भादू में शोक

जहाजपुर थाना प्रभारी के पिता ने 2 लाख रुपये लेकर कहा, आप निश्चित होकर ट्रैक्टर चलाओ, मेरा बेटा आपको परेशान नहीं करेगा, शिकायत पर पिता-पुत्र के खिलाफ एसीबी में केस दर्ज

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार