दो मासूम बेटियों के 23 वर्षीय पिता ने फांसी लगाकर दे दी जान, पीहर थी पत्नी

 


 भीलवाडा बीएचएन। दो मासूम बेटियों के 23 वर्षीय पिता ने फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। इस घटना से परिवारजनों की जहां चीत्कार फूट पड़ी वहीं गांव में माहौल गमगीन हो गया। घटना जिले के माताजी का बाडिय़ा गांव की है। करेड़ा पुलिस खुदकुशी के कारणों की जांच कर रही है। 
करेड़ा थाने के हैडकांस्टेबल जलील अहमद ने बीएचएन को बताया कि माताजी का बाडिय़ा सूलिया निवासी ईश्वर 23 पुत्र कूपाराम भील की पत्नी अपने पीहर केमरी गई हुई थी। इसके चलते ईश्वर भी  केमरी गया, जहां कल ही लौटकर आया था।
रात को खाना खाने के बाद ईश्वर अपने कमरे में चला गया। अन्य परिजन अपने कमरों में जाकर सो गये। 
शुक्रवार सुबह कूपाराम मंदिर गया, जो मंदिर से घर लौटा। उसे बेटा ईश्वर नजर नहीं आया। पिता को बेटे के कमरे का दरवाजा आधा खुला नजर आया। वह बेटे को जगाने कमरे में गया तो वहां का दृश्य देखकर पिता की चीत्कार फूट पड़ी। उसे ईश्वर ओढऩी से फंदे पर लटका मिला। कूपाराम की चीख सुनकर आस-पास के लोगों के साथ ही परिजन भी वहां आ गये। उन्होंने फंदे से लटके मिले ईश्वर के शव को ओढऩी काटकर नीचे उतारा। इसकी सूचना करेड़ा थाने को दी। पुलिस मौके पर पहुंची। शव को कब्जे में लेकर घटनास्थल का जायजा लिया। शव को बाद में करेड़ा अस्पताल ले जाया गया, जहां उसका पोस्टमार्टम किया गया। पुलिस ने ईश्वर के शव को परिजनों के सुपुर्द कर दिया। खुदकुशी के कारण सामने नहीं आये हैं। पुलिस का कहना है कि ईश्वर 3 व 1 साल की दो बेटियों का पिता था।

 

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

देवा गुर्जर की गैंगवार में हत्या, विरोध में रोडवेज बस में लगाई आग !

देवा गुर्जर हत्या का मुख्य आरोपी दुर्गा गुर्जर गिरफ्तार 3 साथी भी पकड़े गए

कन्या हत्याकांड- भीलवाड़ा में साली की हत्या कर भागे जीजा ने एमपी में दी जान, मार कर मरुंगा का एफबी पर लगाया था स्टेटस

छोटे भाई की पत्नी के साथ होटल में रंगरलियां मना रहा था पुलिसकर्मी, सिपाही पत्नी ने पकड़ा और कर दी धुनाई

66वीं राज्य स्तरीय वॉलीबॉल प्रतियोगिता के सेमीफाइनल मैच कल , राजस्थान का गोल्डमैन व समाजसेवी कन्हैया लाल खटीक आएंगे

प्रोसेस हाउस की बस की टक्कर से ऑटो मोबाइल कंपनी के मैनेजर की मौत

बेटे का आरोप-ब्लैकमेलिंग से परेशान था मोहम्मद रईस, विषाक्त सेवन कर शिकायत देने गया था एसपी ऑफिस