3.35 लाख रिश्वत : रेलवे वेलफेयर निरीक्षक व तकनीशियन गिरफ्तार

 

जोधपुर।
भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो की विशेष विंग ने स्वास्थ्य कारणों के चलते अयोग्य (अनफिट) करार रेलवे कर्मचारी को समकक्ष पद लगाने की एवज में तीन लाख की चाइल्ड करंसी व 35 हजार रुपए रिश्वत लेने के मामले में रेलवे वेलफेयर निरीक्षक व तकनीशियन (क्रेन जमादार) को बुधवार रात गिरफ्तार किया। तकनीशियन ने बतौर मध्यस्थ यह रिश्वत ली थी।
विंग के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक दुर्गसिंह राजपुरोहित ने बताया कि रेलवे में तकनीशियन हरेन्द्र को कमर में दर्द की समस्या है। रेलवे मेडिकल बोर्ड ने उसे स्वास्थ्य कारणों से अनफिट करार दिया था। उसे इस पद के लिए फिट नहीं मानकर समकक्ष किसी अन्य पद पर काम कराने की अनुशंसा रिपोर्ट दी थी। उसे समकक्ष पद पर लगाने की एवज में साढ़े तीन लाख रुपए रिश्वत मांगी गई थी, लेकिन परिवादी के पास सिर्फ 35 हजार रुपए ही थे। ऐसे में तीन लाख की चाइल्ड करंसी व 35 हजार रुपए एक पैकेट में बांध परिवादी ने पाली रोड पर अमृतादेवी सर्कल के पास रात को बतौर मध्यस्थ तकनीशियन नंदकिशोर गूजर को दिए। तभी एसीबी ने देवनगर निवासी नंदकिशोर गुजर को गिरफ्तार किया। फिर उसकी वेलफेयर निरीक्षक राजेन्द्र गुजर से बात कराई गई तो उसने अपने पास रखने की सलाह दी। इस पर ब्यूरो ने तलाश के बाद केके कॉलोनी निवासी वेलफेयर निरीक्षक राजेन्द्र गुजर को भी गिरफ्तार कर लिया।

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

महिला से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में एक आरोपित गिरफ्तार

देवगढ़ से करेड़ा लांबिया स्टेशन व फुलिया कला केकड़ी मार्ग को स्टेट हाईवे में परिवर्तन करने की मांग