नाग तो पीछे ही पड़ गया: एक ही युवक को 8वीं बार डसा, गांव में पहुंचे तमाम तांत्रिक, हैरान करने वाली है कहानी

 


 आगरा जिले में 20 वर्षीय युवक रजत चाहर की जान का दुश्मन एक खतरनाक सांप बना हुआ है। कभी घूमते वक्त, तो कभी सोते समय, इस सांप ने पिछले 15 दिनों में रजत पर आठ बार हमला बोला। रजत को डसने के बाद ये न जाने कहां गायब हो जाता है। बीती रात को सोते समय सांप ने उसके पैर में काट लिया। सांप के काटते ही रजत को करंट सा लगा। वह जोर-जोर से चीखने लगा। आवाज सुनकर परिवार के लोग उसके कमरे में पहुंच गए। रजत के पैर से खून निकल रहा था। परिवार के लोगों ने तत्काल ही उपचार के लिए गांव के ही वैद्य को बुलाया। समय रहते रजत की जान एक बार फिर बच गई, लेकिन अब परिवार के लोगों ने इस सांप से अपने बेटे की जान बचाने के लिए तांत्रिकों का सहारा लिया है। आज सुबह से ही रजत के घर के आगे तांत्रिकों ने तंत्र-मंत्र का प्रयोग शुरू कर दिया, जिन्हें देखने के लिए लोगों की भीड़ उमड़ रही है। 
 

सांप काटे का निशान दिखाता रजत

 

आगरा के दक्षिणी बाईपास स्थित थाना मलपुरा क्षेत्र के मनकेड़ा गांव का रहने वाला 20 वर्षीय युवक रजत चाहर स्नातक का छात्र है। परिवार के लोगों ने बताया कि रजत सोमवार की रात अपने कमरे में सो रहा था। रात करीब दो बजे सांप ने रजत को एक बार फिर से शिकार बनाते हुए उसके बाएं पैर में काट लिया। जिसके बाद पीड़ित परिवार में अफरा-तफरी मच गई। परिवार के लोगों ने वैद्य को बुलाया। जड़ी बूटियों का घोल पीने से रजत की हालत में सुधार है, लेकिन सांप की दहशत परिवार के दिल में घर कर गई है।
 

 

 

सांप से पीछा छुड़ाने के लिए रजत के घर बज रही थाली

 

परिवार के लोगों के अनुसार 6 सितंबर के बाद हर 2 या 3 दिन बाद सांप रात को सोते समय उसके कमरे में आता और उसे काट कर चला जाता है। बस रजत के शरीर पर उस सांप के काटने के निशान रह जाते हैं। इस दौरान रजत चीखता चिल्लाता और फिर अपने परिवार वालों को बुलाता और परिवार वाले उसे हर बार वैद्य पर ले जाते और उसका इलाज कराते हैं।

सांप के काटने के निशान

 

अब आए दिन ऐसा होने लगा है। रजत के अनुसार उसे अब तक 15 दिनों के भीतर लगभग 8 बार एक ही सांप काट चुका है। रजत भयभीत है। उसका कहना है कि वह डर के चलते कहीं भी घर से बाहर नहीं जा पा रहा है।

 

 

सांप से पीछा छुड़ाने के लिए तंत्र-मंत्र का भी लिया जा रहा सहारा

 

सांप से पीछा छुड़ाने के लिए तंत्र-मंत्र का भी लिया जा रहा सहारा 

बुधवार को एक बार फिर सांप के काटने के बाद गांव में तांत्रिकों का मेला सा लगा हुआ है। बायगीरों के द्वारा थाली बजाई जा रही हैं। उसका इलाज गांव में झाड़-फूंक के जरिए चल रहा है। गांव में या घटना कोतुहल का विषय बन चुकी है। गांव में भारी संख्या में लोग रजत चाहर का हाल-चाल जानने के लिए उसके घर पहुंच रहे हैं। गांव के साथ-साथ क्षेत्र में यह घटना चर्चा का विषय बनी हुई है।

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

देवा गुर्जर की गैंगवार में हत्या, विरोध में रोडवेज बस में लगाई आग !

देवा गुर्जर हत्या का मुख्य आरोपी दुर्गा गुर्जर गिरफ्तार 3 साथी भी पकड़े गए

कन्या हत्याकांड- भीलवाड़ा में साली की हत्या कर भागे जीजा ने एमपी में दी जान, मार कर मरुंगा का एफबी पर लगाया था स्टेटस

छोटे भाई की पत्नी के साथ होटल में रंगरलियां मना रहा था पुलिसकर्मी, सिपाही पत्नी ने पकड़ा और कर दी धुनाई

कार खड़े ट्रक से टकराई भीलवाड़ा के एक ही परिवार के तीन लोगों सहित 4 व्यक्तियों की मौत

फार्म हाउस पर छापा, भीलवाड़ा -चित्तौड़गढ़ जिले के 31 जुआरी गिरफ्तार सात लाख से ज्यादा की नकदी बरामद

कपड़ा व्यवसायी के घर चल रहा था सेक्स रैकेट , 2 लड़कियां सहित 6 हिरासत में