रायला में बप्पा आये इको फ्रेंडली सोच लाये, टेलर ने दिया अपनी हस्तकला का परिचय


रायला| पर्यावरण और जलस्त्रोतों की रक्षा के लिए रायला में अवधेश टेलर की पत्नी पायल टेलर ने अपनी हस्तकला का परिचय देते हुए मिट्टी से भगवान श्री गणेश की प्रतिमा बनाई है। पायल का कहना है। मिट्टी के गणेश की पूजा से सकारात्मक ऊर्जा मिलती है। वहीं प्लास्टर ऑफ पेरिस और अन्य केमिकल्स से बनी गणेश जी की मूर्ति में भगवान का अंश नहीं रहता। इनसे नदियां भी अपवित्र होती हैं। ब्रह्मपुराण और महाभारत के अनुशासन पर्व में कहा गया है कि नदियों को गंदा करने से दोष लगता है। पर्यावरण रक्षा के लिए हम हर साल मिट्टी के गणेश की स्थापना करते हैं। जिनकी दस दिन पूजा अर्चना के बाद घर पर ही इसका प्रतिमा का विसर्जन किया जाता है। 

 

आपको बता दें कि यह प्रतिभाएं इनकी माता सुनीता के मार्गदर्शन से संपूर्ण हो पाई है। इससे पूर्व अभिनंदन व अजय ने भी यह कला प्रदशीत की है। टेलर का कहना है कि सभी अपने अपने घर पर ही इको फ्रेंडली बप्पा की स्थानपना करे।

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

मुंडन संस्कार से पहले आई मौत- बेकाबू बोलेरो की टक्कर से पिता-पुत्र की मौत, पत्नी घायल, भादू में शोक

जहाजपुर थाना प्रभारी के पिता ने 2 लाख रुपये लेकर कहा, आप निश्चित होकर ट्रैक्टर चलाओ, मेरा बेटा आपको परेशान नहीं करेगा, शिकायत पर पिता-पुत्र के खिलाफ एसीबी में केस दर्ज

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार