ट्रेलर से लगी टक्कर, मां की गोद से छिटका दो साल का बेटा, मौके पर मौत, मां घायल

 

 भीलवाड़ा बीएचएन। ट्रेलर से कुचल कर दो साल के मासूम बच्चे की मौत हो गई। हादसे में बच्चे की मां घायल हो गई। उसे उपचार के लिए जिला अस्पताल भिजवा दिया गया। दरअसल, महिला, उसका पति व एक बेटा और बेटी बाइक पर भीलवाड़ा से अपने गांव लौट रहे थे। तभी पंडेर-रोपां रोड़ पर ट्रेलर ने इन्हें चपेट में ले लिया। इसके चलते ये लोग नीचे गिर पड़े। पुलिस ने शनिवार सुबह पोस्टमार्टम कराने के बाद शव परिजनों को सौंप दिया।  
 
पंडेर थाना प्रभारी स्वागत पांड्या ने बीएचएन को बताया कि जवाहर नगर, पंडेर निवासी बनवारी नट का ससुराल कांदा गांव में है। बनवारी, अपनी पत्नी निरमा, चार साल की बेटी लाछा और दो साल के पुत्र विजय के साथ बाइक से ससुराल से अपने गांव लौट रहे थे।  पंडेर- रोंपा रोड़ पर कंजर कॉलोनी चौराहे के नजदीक पहुंचने पर पीछे से आये ट्रेलर ने बाइक को टक्कर मार दी। निरमा के हाथ से उसका दो वर्षीय बेटा विजय  हाथ से उछल कर सड़क पर जा ेगिरा और उसकी ट्रेलर की चपेट में आने से मौत हो गई। हादसे में निरमा भी  घायल हो गई। निरमा को पंडेर हॉस्पिटल में प्राथमिक उपचार कर जिला अस्पताल के लिए रैफर कर दिया गया। हादसे के बाद भागते ट्रेलर का पीछा कर लोगों ने चालक को दबोच लिया। शनिवार सुबह मासूम विजय का शव पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को सौंप दिया गया।  निरमा का अस्पताल में उपचार जारी है। पुलिस का कहना है कि निरमा का  आधार कार्ड पीहर में बनवाया गया था। शुक्रवार सुबह रसीद लाने के लिए बाइक से ये लोग कांदा गये थे।  लौटते समय हादसा हो गया। 

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

मुंडन संस्कार से पहले आई मौत- बेकाबू बोलेरो की टक्कर से पिता-पुत्र की मौत, पत्नी घायल, भादू में शोक

जहाजपुर थाना प्रभारी के पिता ने 2 लाख रुपये लेकर कहा, आप निश्चित होकर ट्रैक्टर चलाओ, मेरा बेटा आपको परेशान नहीं करेगा, शिकायत पर पिता-पुत्र के खिलाफ एसीबी में केस दर्ज

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार