रॉयल्टीकर्मियों पर हमला, दी धमकी-जगदीश सैन के ट्रैक्टर की न रशीद कटती है न रुपये जमा करवाये जाते हैं

 


 भीलवाड़ा बीएचएन।  जिले के गुलाबपुरा क्षेत्र में रॉयल्टी कर्मचारियों को एक ट्रैक्टर चालक ने न केवल धमकाया, बल्कि ट्रैक्टर मालिक व उसके बेटे ने साथियों के साथ मिलकर कर्मचारियों पर लाठियों से हमला कर दिया। इससे एक कर्मचारी के सिर में गंभीर चोट आई। पुलिस ने केस दर्ज कर जांच शुरु कर दी। 
गुलाबपुरा पुलिस ने बताया कि शिखरानी, बिजय नगर निवासी महेंद्रसिंह राठौड़ ने जगदीश सैन, इसके बेटे राहुल सैन निवासी इंद्रा कॉलोनी व अन्य के खिलाफ रिपोर्ट दी। राठौड़ ने एफआईआर में बताया कि परिवादी के नाम से संविंदा खनन पट्टा खनिज बजरी का भीलवाड़ा की तहसील हुरड़ा व अजमेर की मसूदा की राजस्व् सीमा में नदी, नालों, बाहलों का स्वीकृत है। परिवादी के कर्मचारी जो कि खारी नदी में बजरी भरने आने वाले साधनों से सरकार की शर्तानुसार बजरी भरवाकर उनसे रॉयल्टी सरकारी दरों के अनुसार ली जाने के लिए  नियुक्त किया गया  है। इन कर्मचारियों में  बलवीरसिंह एवं विनय प्रतापसिंह बबलूसिंह  23सितंबर को  सुबह 9.30बजे गुलाबपुरा से नदी में जा रहे थे कि राममन्दिर के पास  जगदीश सैन का ट्रेक्टर उसका वाहन चालक लेकर आ रहा था । ्र
  ट्रेक्टर को  कर्मचारियों ने रूकवाया तथा उससे रसीद मांगी । ट्रैक्टर चालक ने कर्मचारियों से कहा कि तुम लोग जानते नहीं हो यह जगदीश सैन का ट्रेक्टर है, न तो इसकी रसीद कटती है और न ही रूपये जमा कराये जाते हैं । जब कर्मचारियों द्वारा उनसे ट्रेक्टर के कॉमर्शियल होने के दस्तावेज मांगे तो उन्होने देने से मना कर दिया । इसके कुछ समय पश्चात् वहां पर  जगदीश सैन, राहुल सैन व उनके साथ चार-पांच अन्य व्यक्ति आ गये । उनके  हाथ में लाठियां थी।  जगदीश सैन ने आते ही लकड़ी की बलवीरसिंह के सिर पर दे मारी, जिससे सिर पर गम्भीर चोट आई।  खून बहने लगा। बलवीर रोड पर गिर गया।  इसके साथ ही आरोपितों के साथ आये अन्य व्यक्तियों ने भी कर्मचारियों के साथ मारपीट की लेकिन राह चलते  व्यक्तियों के एकत्रित हो जाने से आरोपित मौके से भाग गये और जाते हुये  धमकी देकर गये कि दुबारा कभी हमसे रसीद या दस्तावेज मांगे तो जान से खत्म कर देंगे । पुलिस ने केस दर्ज कर जांच शुरु कर दी। 

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

मुंडन संस्कार से पहले आई मौत- बेकाबू बोलेरो की टक्कर से पिता-पुत्र की मौत, पत्नी घायल, भादू में शोक

जहाजपुर थाना प्रभारी के पिता ने 2 लाख रुपये लेकर कहा, आप निश्चित होकर ट्रैक्टर चलाओ, मेरा बेटा आपको परेशान नहीं करेगा, शिकायत पर पिता-पुत्र के खिलाफ एसीबी में केस दर्ज

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार