कन्या हत्याकांड- भीलवाड़ा में साली की हत्या कर भागे जीजा ने एमपी में दी जान, मार कर मरुंगा का एफबी पर लगाया था स्टेटस

 

 भीलवाड़ा राजकुमार माली। 

शहर में मंगलवार की सुबह सूरज की किरणों के साथ ही सनसनी फैल गई। वजह, एक युवती की हत्या। शव कोटा रोड़ पर केंद्रीय विद्यालय के सामने झाडिय़ों में मिला। आधार कार्ड के आधार पर शव की पहचान कर ली गई। इसके बाद जांच को गति मिली तो शक की सूई मृतका के जीजा की ओर घूम गई। कारण, एक दिन पहले उसने कन्या के पिता को एक वीडियो भेजा, जिसमें उसने कहा बताया है कि उसे मार दूंगा। वहीं दूसरी वजह उसकी फेस बुक पर लगा स्टेटस है, जिसमें उसने लिखा कि मार के मरुंगा। यह खुलासा मृतका के परिजनों ने किया है। पुलिस हत्या का मामला दर्ज कर जांच शुरु भी नहीं कर पाई कि इससे पहले ही कत्ल के संदिग्ध आरोपित जीजा ने मंदसौर जिले के आख्यापालरा गांव स्थित मकान में फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। बता दें कि यह संदिग्ध एक दिन पहले भीलवाड़ा आया और कन्या से मिलकर गया था। 
डीएसपी सिटी नरेंद्र दायमा ने बीएचएन को बताया कि, मंगलवार को जलझूलनी एकादशी के चलते सोमवार रात से भीलवाड़ा शहर के साथ ही आस-पास के गांवों से पैदल यात्री कोटा मार्ग से होकर कोटड़ी चारभुजाजी के दर्शन को जा रहे थे। पदयात्रियों का रैला-रातभर चल रहा था। इस बीच, मंगलवार की सुबह  कोटा रोड़ पर केंद्रीय विद्यालय के सामने सड़क से कुछ कदम की दूरी पर एक युवती की लाश पड़ी नजर आई। लोगों ने यह लाश देखी। इस खबर ने शहर में सनसनी फैला दी। सुबह साढ़े आठ बजे भीमगंज थाने को सूचना मिली।  उधर, मौके पर भीड़ जुट गई।  एएसपी ज्येष्ठा मैत्रेयी, डीएसपी सिटी नरेंद्र दायमा, भीमगंज थाना प्रभारी विक्रम सेवावत, कोतवाल मुकेश वर्मा आदि अधिकारी मौके पर पहुंच गये। 
कोटा हाइवे से कुछ कदम की दूरी पर झाडिय़ों के पास पुलिस को अज्ञात युवती का शव पड़ा मिला। उसके गले पर निशान थे। मृतका का पहना हुआ कुर्ता भी फटा था। ऐसे में प्रथम दृष्टया पुलिस इसे हत्या का मामला मान रही है।  पुलिस का कहना है कि युवती  लेगी और कुर्ता पहने है। उसके दांयें हाथ पर कन्या गुदा है। साथ ही एक पर्स भी मिला है। पर्स में आधार कार्ड मिला, जिसके आधार पर शव की पहचान शाहपुरा क्षेत्र के बावरियों का बोरड़ा, शाहपुरा निवासी कन्या बावरी के रुप में कर ली गई। उसका पिता  भी मौके पर पहुंच गया। पहचान के बाद शव को पोस्टमार्टम के लिए मोर्चरी भिजवा दिया गया। जहां मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया गया।  कन्या की हत्या की रिपोर्ट उसी की एक अन्य बहन के पति दिनेश बावरी ने दी,जो यहां मारुतीनगर में रहता है। 

डॉग स्क्वॉयड भी पहुंचा मौके पर
पुलिस का कहना है कि वारदात को लेकर खोजी श्वान को भी मौके पर बुलवा लिया गया। डॉग, वारदातस्थल से गंध लेकर वहां से रवाना हुआ जो करीब 500 मीटर दूर चुंगीनाका की ओर जाकर रुक गया। यहीं से कच्चा रास्ता भी जाता है। ऐसे में डॉग को दुबारा गंध सुंघाकर रवाना किया। दूसरी बार भी वह, उसी स्थान पर जाकर रुक गया, जहां पहले रुका था। ऐसे में पुलिस का मानना है कि इसी स्थान से कातिल वाहन में बैठकर फरार हो गये। 

आधार कार्ड से पहचान
पुलिस का कहना है कि मृतका के पास उसका पर्स मिला। उसमें आधार कार्ड था। इसी के आधार पर मृतका की पहचान बावरियों का बोरड़ा निवासी कन्या बावरी के रुप में हुई है। 
 
जीजा के साथ भाग गई थी कन्या, दस दिन पहले ही आई थी भीलवाड़ा
कन्या 6-7 माह पहले अपने जीजा मंदसौर क्षेत्र के आख्यापालरा निवासी प्रकाश उर्फ बंटी उर्फ रामप्रसाद पुत्र सत्यनारायण के साथ चली गई थी। इसे लेकर थाने में गुमशुदगी भी दर्ज हुई थी। डीएसपी ने बताया कि कन्या,  बाद में घर लौट आई। उसने परिजनों को बताया कि वह अब अपने जीजा प्रकाश के साथ रहेगी। इसके बाद यह पुन: प्रकाश के साथ चली गई थी। इसके बाद से वह एमपी में रह रही थी। वह दस दिन पहले ही वहां से लौटकर अपनी बहन के पास मारुतीनगर आई थी।  बहन के प्रसूती में होने से वह उसकी मदद कर रही थी।  

कल भीलवाड़ा आया था प्रकाश उर्फ बंटी
डीएसपी दायमा ने बताया कि सोमवार को तीन से चार बजे के बीच शाम को कन्या का जीजा प्रकाश उर्फ बंटी  भीलवाड़ा में कन्या की बहन के घर आया था। वह कन्या से मिलकर गया था। इसके बाद कन्या भी तेजाजी का मेला देखने के लिए चली गई थी। वापस, प्रकाश कन्या की बहन के घर आया और कन्या के बारे में पूछा। उसे बताया गया कि कन्या मेले में गई है। इसके बाद प्रकाश भी वहां से चला गया। इसके बाद कन्या की लाश आज सुबह पाई गई। 

जिस पर हत्या का शक, उसने एमपी में कर ली खुदकुशी
भीलवाड़ा पुलिस कन्या बावरी की हत्या का जिस प्रकाश उर्फ बंटी  उर्फ रामप्रसाद बावरी पर पर हत्या का शक जाहिर कर रही है। उसने मंदसौर जिले के नारायणगढ़ थाने के आख्यापालरा गांव स्थित मकान में मंगलवार सुबह फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। यह जानकारी नारायणगढ़ थाने के एएसआई विजेंद्र सिंह ने बीएचएन को दूरभाष पर दी। सिंह ने बताया कि प्रकाश के शव को पोस्टमार्टम के बाद परिजनों के सुपुर्द कर दिया गया। 

भीमगंज पुलिस खुदकुशी और नारायणगढ़ पुलिस हत्या से अनजान
कन्या बावरी की हत्या के मामले में भीलवाड़ा की भीमगंज पुलिस को मृतका के जीजा प्रकाश उर्फ बंटी पर शक है। लेकिन पुलिस को यह पता नहीं कि जिस प्रकाश पर हत्या काशक है उसने अपने गांव आख्यापालरा में खुदकुशी कर ली। उधर, नारायणगढ़, एमपी की पुलिस भी इस बात से अंजान है कि प्रकाश उर्फ बंटी पर भीलवाड़ा पुलिस को हत्या का शक है। 

 

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

देवा गुर्जर की गैंगवार में हत्या, विरोध में रोडवेज बस में लगाई आग !

देवा गुर्जर हत्या का मुख्य आरोपी दुर्गा गुर्जर गिरफ्तार 3 साथी भी पकड़े गए

छोटे भाई की पत्नी के साथ होटल में रंगरलियां मना रहा था पुलिसकर्मी, सिपाही पत्नी ने पकड़ा और कर दी धुनाई

66वीं राज्य स्तरीय वॉलीबॉल प्रतियोगिता के सेमीफाइनल मैच कल , राजस्थान का गोल्डमैन व समाजसेवी कन्हैया लाल खटीक आएंगे

प्रोसेस हाउस की बस की टक्कर से ऑटो मोबाइल कंपनी के मैनेजर की मौत

बेटे का आरोप-ब्लैकमेलिंग से परेशान था मोहम्मद रईस, विषाक्त सेवन कर शिकायत देने गया था एसपी ऑफिस