कलक्टर ने क्षतिग्रस्त सड़कों का चिन्ह्किरण कर, शीघ्र कार्य शुरू करने के दिए निर्देश

 

 भीलवाड़ा, BHN । शहर की क्षतिग्रस्त सड़कों का चिन्ह्किरण करे ताकि सड़कों का मरम्मत कार्य, पुनः बनाने का कार्य किया जा सके। यह बात जिला कलक्टर  आशीष मोदी ने बुधवार को कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित भीलवाड़ा शहर की सड़कों की स्थिति की समीक्षा बैठक में कहीं।

बैठक में नगर विकास न्यास, नगर परिषद, आरयूआईडीपी और सार्वजनिक निर्माण विभाग के अधिकारियों के साथ उनके क्षेत्राधिकार में आने वाली सड़कों के सुधार को लेकर चर्चा की गई। जिला कलक्टर  मोदी ने आरयूआईडीपी के अधीक्षण अभियंता  सूर्यप्रकाश संचेती से सीवरेज कार्य के दौरान खोदी गई सड़कों व रिस्टोरेशन को लेकर जानकारी ली।
  मोदी ने अधिकारियो से कहा कि क्षतिग्रस्त सड़कों का चिन्ह्किरण का कार्य करे और स्वीकृति निकाले ताकि 15 सितम्बर तक कार्यादेश जारी किया जा सके। जिला कलक्टर ने अधिकारियों से 15 अक्टूबर तक क्षतिग्रस्त सड़कों से संबंधित कार्य पूरा करने के निर्देश दिए। बैठक के दौरान शहर की चिन्ह्किृत प्रमुख 49 सड़कों को नगर परिषद व यूआईटी को सौंपा गया ताकि तुरंत प्लान तैयार करके अगली बैठक में प्रस्तुत किया जा सके।
बैठक में बताया गया की नगर विकास न्यास द्वारा सड़कों के दुरुस्तीकरण के लिए 20 करोड़ के टेंडर जारी किए जा चुके हैं साथ ही पूर्व में सड़कों की मरम्मत के लिए 10 करोड़ की लागत के कार्यादेश जारी किए जा चुके हैं।
नगर परिषद द्वारा सड़कों के पेच वर्क के लिए 2 करोड़ रुपए के 10 कार्यादेश जारी कर दिए गए व 15 कार्यों के लिए लगभग तीन करोड़ की लागत के टेंडर जारी किए गए हैं।
सार्वजनिक निर्माण विभाग के एक्सईएन नरेंद्र चौधरी ने बताया की पीडब्ल्यूडी द्वारा 7 करोड़ की लागत के 16 सड़कों के लिए निविदा आमंत्रित की गई है।
जिला कलक्टर ने पार्कों के रखरखाव, इंदिरा गांधी शहरी रोजगार गारंटी योजना व पेयजल सप्लाई को लेकर अधिकारियों से जानकारी ली।
इस दौरान अतिरिक्त जिला कलक्टर (शहर)   उत्तम सिंह शेखावत, नगर विकास न्यास सचिव  अजय आर्य, नगर परिषद आयुक्त दुर्गा कुमारी, उपखण्ड अधिकारी भीलवाड़ा ओम प्रभा, एक्सईएन पीडब्ल्यूडी  नरेन्द्र चौधरी सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहे।

 



 

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

शीतलाष्टमी की पूजा आज देर रात से, रंगोत्सव (festival of colors) कल लेकिन फैली है यह अफवाह ...!

मुंडन संस्कार से पहले आई मौत- बेकाबू बोलेरो की टक्कर से पिता-पुत्र की मौत, पत्नी घायल, भादू में शोक

जहाजपुर थाना प्रभारी के पिता ने 2 लाख रुपये लेकर कहा, आप निश्चित होकर ट्रैक्टर चलाओ, मेरा बेटा आपको परेशान नहीं करेगा, शिकायत पर पिता-पुत्र के खिलाफ एसीबी में केस दर्ज