रामलीला मंचन को लेकर हुई ध्वज स्थापना

 

भीलवाड़ा ! आजाद चौक में रामलीला मंचन को लेकर गुरुवार को बालाजी मार्केट से शोभायात्रा निकालकर आजाद चौक रामलीला रंगमंच पर हनुमान जी की ध्वज स्थापना की गई! 

         कमेटी के सचिव लादू लाल ने बताया कि बालाजी मंदिर में पंडित आशुतोष शर्मा के सानिध्य में धवज की पूजा अर्चना की गई कमेटी के सदस्य वह कलाकारों द्वारा ध्वज को शोभायात्रा के रूप में आजाद चौक लाया गया जा मंत्रोचार के साथ धवज स्थापना की गई !

        विदित रहे कि पिछले 76 वर्षों से शारदीय नवरात्रा में श्रीरामलीला कमेटी की ओर से आजाद चौक स्थित रामलीला रंगमंच पर मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्री राम के जीवन चरित्र पर आधारित लीला का मंचन किया जा रहा है रामलीला का मंचन 26 सितंबर से 9 अक्टूबर तक प्रतिदिन सांयकाल 8:30 से रात्रि 11 बजे तक किया जाएगा! 

     इस मौके पर रामलीला कमेटी के पूर्व अध्यक्ष श्रीमती मंजू पोखरना अध्यक्ष पंडित गोविंद व्यास सचिव लादू लाल भांड मुख्य निर्देशक सुरेश फतेहपुरिया सरक्षक मंडल के भेरूलाल सेन, कैलाश पारीक, दिलीप सोनी, किशनलाल ट्रेलर, रामगोपाल सोनी,  गोवा लाल सोनी तथा घनश्याम छिपा, मोहन चौधरी, गंगाराम पारीक, सुनील पोखरना, भेरु लाल मारू, प्रकाश सिंधी, नंद किशोर जीनगर, सुनील शर्मा, योगेश पारीक, शुभम पारीक ,अमन पाराशर, राजकुमार ट्रेलर, अशोक शर्मा, नवीन पारीक, हेमू पारीक, रवि कच्छावा, संदीप टॉक, महिला कलाकार अलका त्रिपाठी, माया सालवी, मंजू पाराशर ,माया पारीक, सुशीला जोशी, गायत्री पारीक, आदि उपस्थित थे 

कमेटी के सचिव लादू लाल ने बताया कि रामलीला मंचन के लिए पूर्व अभ्यास रात्रि 8:00 से 10:00 बजे तक आजाद चौक रामलीला मंच पर प्रतिदिन किया जा रहा है! 

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

डांग के हनुमान मंदि‍र के सरजूदास दुष्‍कर्म के आरोप में गि‍रफ्तार, खाये संदि‍ग्‍ध बीज, आईसीयू में भर्ती

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

एलन कोचिंग की एक और छात्रा ने फांसी लगाकर की आत्महत्या

शीतलाष्टमी की पूजा आज देर रात से, रंगोत्सव (festival of colors) कल लेकिन फैली है यह अफवाह ...!

21 जोड़े बने हमसफर, हेलीकॉप्टर से हुई पुष्पवर्षा

मुंडन संस्कार से पहले आई मौत- बेकाबू बोलेरो की टक्कर से पिता-पुत्र की मौत, पत्नी घायल, भादू में शोक

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?