भीलवाड़ा के 400 लोग फंसे प्रतापगढ़ में, कलेक्टर ने करवाई भोजन-पानी की व्यवस्था

भीलवाड़ा  हलचल। देशभर में कोरोना कहर के चलते कर्नाटक से भीलवाड़ा आ रहे 400 लोगों को प्रतापगढ़ में रोक लिया गया। इन लोगों के खाने-पीने की व्यवस्था करवाई गई है। वहीं भीलवाड़ा जिले में आईस्क्रीम व अन्य कार्यो सें जुड़े श्रमिकों के भीलवाड़ा में प्रवेश करने को लेकर सर्वे करवाया जा रहा है। 
पत्रकारों से बाचतीत करने हुये कलेक्टर ने बताया कि कनार्टक से आठ बसों से करीब 400 लोग प्रतापगढ़ पहुंच गये, जहां इन्हें रोक लिया गया। प्रतापगढ़ कलेक्टर से बात कर उन्हें भीलवाड़ा के हालात से अवगत करा इन लोगों के वहां रहने और खाने-पीने की व्यवस्था करवा दी गई है। भट्ट ने यह भी बताया कि रायपुर, जहाजपुर और आसींद क्षेत्र के लोग बड़ी संख्या में आईस्क्रीम और अन्य कार्यों में लगे लोग प्रवेश कर गये हैं, जिनका सर्वे करवाया जा रहा है, ताकि इनकी जांच करवा कोरोना वायरस की चेन तोड़ी जा सके। उन्होंने लोगों से अपील की है कि इस तरह की कोई जानकारी होतो क्षेत्र के जिम्मेदार लोगों को दें, जिससे कोरोना वायरस को फैलने से रोका जा सके। उन्होंने यह भी कहा कि सर्वे कार्य में आंगनबाड़ी से लेकर चिकित्सक तक लगे हैं और अब तक की मेहनत से काफी हद तक इस वायरस को फैलने से रोकने पर काबू पा लिया है, लेकिन अगर अब ढिलाई रही तो हालात बिगड़ सकते हैं। उन्होंने लोगों से घरों में ही रहने की अपील की ओर अब तक की गई मेहनत पर पानी नहीं फेरने की बात कही। 


टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

महिला से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में एक आरोपित गिरफ्तार

घर-घर में पूजी दियाड़ी, सहाड़ा के शक्तिपीठों पर विशेष पूजा अर्चना