घरों में ही की गणगौर पूजा, बरती सतर्कता, कोरोना से बचाव की दुआ मांगी  

  भीलवाड़ा । कोरोना वायरस संक्रमण फैलने से रोकने के लिए कफ्र्यू लगा है। ऐसे में महिलाओं ने समझदारी दिखाते हुये अपने घरों में ही गणगौर पूजा की। महिलाओं ने सरकार की ओर से जारी गाइड लाइन का पालन करते हुये एक-दूसरे से न केवल दूरी बनाकर रखी, बल्कि मास्क भी पहने।  


जहाजपुर  उपखंड क्षेत्र में कोरोनावायरस को फैलने से रोकने के लिए महिलाओं द्वारा घरों में ही मास्क लगाकर दूरी बनाते हुए गणगौर की पूजा की गई। इस बार लॉक डाउन में भीड़ तो नहीं है लेकिन घरों में ही ईसर-गणगौर प्रतिमाओं की पूजा कर परंपरा निभाई गई। इस बार महिलाएं घरों में ही गणगौर के रूप में शिव-शक्ति स्वरूप ईसर-पार्वती का माटी के स्वरूप बनाकर आराधना कि गई है महिलाओं ने परिवार, समाज, शहर और देश में खुशहाली की कामना की गई है।


मांडल में लाँकडाऊन के दौरान महिलाओं ने पूर्ण सतर्कता बरतते हुए गणगौर का त्यौहार मनाया। ईसर गणगौर का पूजन करने गई महिलाओं ने न सिर्फ  अपने मुंह पर मास्क बांधे बल्कि पूजास्थल पर भी वांछित दूरी रखकर पूजन किया।


सवाईपुर  सहित सोपुरा, सालरिया, ढ़ेलाणा, बड़ला, बनकाखेड़ा, चांवडिय़ा, खजीना, ककरोलिया माफ ी, लसाडिय़ा, रेड़वास आदि गांवों में आज गणगौर माता का पर्व मनाया गया ।   सुमन कंवर व सरिता कंवर ने बताया कि महिलाओं ने ईश्वर जी व माता गणगौर के विधि विधान पूर्ण पूजा-अर्चना कर कर परिवार में सुख समृद्धि व देश में फैल रहे कोरोना वायरस जैसी महामारी के बचाव की कामना की ।  महिलाओं ने कोरोना वायरस के संक्रमण ना फैले को लेकर अपने-अपने घरों में माता गणगौर की पूजा-अर्चना की। 



 


टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

महिला से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में एक आरोपित गिरफ्तार

घर-घर में पूजी दियाड़ी, सहाड़ा के शक्तिपीठों पर विशेष पूजा अर्चना