जिले में प्रारम्भ हुआ नवाचार ये है राजसमन्द रक्षक योजना

  राजसमन्द (राव दिलीप सिंह)  जिले में कोरोना के विरूद्ध संघर्6ा के लिये जिला कलक्टर अरविन्द कुमार पोसवाल द्वारा नवाचार प्रारम्भ किया। इस योजना के माध्यम से जिले के पीपली आर्चायन में ‘मेरा गांव मेरी जिम्मेदारी’ की थीम को अभिप्रेरित किया। जिसके अन्तर्गत प्र8ाासनिक व्यवस्था और प्र8ाासनिक म8ीनरी के साथ आमजन व समाज की सहभागिता के माध्यम से कोरोना व्यवस्थाओं को बेहतर किया।


 


नवाचार योजना का उद्धेश्य


    अतिरिक्त मुख्य कार्यकारी अधिकारी डॉ दिने8ा राय सापेला ने बताया कि इस योजना में जनप्रतिनिधियों के माध्यम से कोरोना संघर्6ा को मजबूत हथियार प्रदान करवाना। स्थानीय स्तर पर स्थानीय सक्रिय लोगों की क्षमता और सामाजिकता का उपयोग किया जाकर गांव स्तर पर बाहर से आने वाले लोगों, कोरेनटाइन किये जाने वाले लोगों तथा उनकी व्यवस्थाओं को सुनि8िचत करना।


योजना एवं कार्यप्रणाली


    नवाचार में जनप्रतिनिधि वि8ो6ा रूप से सरपंच अपने ग्राम पंचायत में नि6ठावान दस सदस्यों की पहचान करेगें। ये व्यक्ति निस्वार्थ भाव से सामाजिक सरोकार और समाज सेवा के दृ6िटकोण को ध्यान में रखते हुए चयनित किये जायेगें। इसके साथ ही गंभीर रोग से ग्रसित व्यक्तियों को इसमें 7ाामिल नहीं किया जाएगा।


डॉ दिने8ा राय सापेला ने योजना पर प्रकाश डालते हुए बताया कि इस कार्य में प्रत्येक दस लोगों पर एक व्यक्ति होगा जिसका उद्दे8य उन दस व्यक्तियों की मॉनिटरिंग व समन्वय करना होगा। उसका कार्य रिपोर्टिंग करना भी होगा। प्र8ाासन के द्वारा उसी व्यक्ति से सूचना प्राप्त की जायेगी। सरपंच अपनी सूची को संबंधित विकास अधिकारी को उपलब्ध करवायेगें। कोरोनटाइन व्यवस्थाओं में वोलेन्टियर्स के रूप में काम करेंगे।


 बाहर से आने वाले व्यक्तियों पर नजर रखना व सूचना प्र8ाासन तक पहुंचाना। हॉम कोरेनटाइन किये गये व्यक्तियों पर नजर रखना व पालना करवाना। भामा8ााहों से सम्पर्क स्थापित करना व भामा8ााह और प्र8ाासन के बीच की कड़ी के रूप में कार्य करना। आमजन को जागरूक करना और सतर्क रहने के लिये प्रेरित करेंगे।


नवाचार के दौरान सुविधा


    प्रत्येक 10 व्यक्तियों को जिन्हें राजसमन्द रक्षक के रूप में पहचाना जायेगा, जिला प्र8ाासन की तरफ से यूनिफार्म उपलब्ध करवायी जायेगी। इसके साथ ही कैप, पहचान पतर्् भी प्रदान किया जायेगा। 7ो6ा एक व्यक्ति को जिसे कमाण्डर के रूप में पहचाना जायेगा, को अलग रंग व प्रकार की यूनिफार्म उपलब्ध करवायी जायेगी।


 उत्कृष्ट कार्य पर सम्मान


प्रत्येक ग्राम पंचायत पर उक्त कार्य सरपंच के माध्यम से किया जाना है। जिला कलक्टर द्वारा यह स्प6ट किया जा चुका है कि जो जन प्रतिनिधि सर्वश्रे6ठ कार्य करेगें उनकों राज्य स्तरीय पुरस्कार या सम्मान से जिला स्तर पर सम्मानित किया जायेगा। चयन करते समय इन तथ्यों यथा, ग्राम पंचायत में कितने कोरेनटाइन सेंटर रहे, कितने व्यक्तियों को कोरेनटाइन किया गया, भामा8ााहों का योगदान, कोरेनटाइन सेंटर की व्यवस्थाएं आदि को ध्यान रखा जायेगा। प्रत्येक ब्लॉक पर पांच सरपंच या जनप्रतिनिधियों को सम्मानित किया जायेगा।


नवाचार के लिये नोडल अधिकारी नियुक्त


    जिला परि6ाद के अतिरिक्त मुख्य कार्यकारी अधिकारी डॉ दिने8ा राय सापेला को योजना का स्वरूप निर्धारित करने, समन्वय करने और मॉनिटरिंग करने के लिये नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया है।


टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

महिला से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में एक आरोपित गिरफ्तार

घर-घर में पूजी दियाड़ी, सहाड़ा के शक्तिपीठों पर विशेष पूजा अर्चना