रमजान का मझला रोजा कल

इबादत एवं बरकत के पवित्र रमजान माह के मध्य पड़ने वाला मझला रोजा कल 14वें दिन बहुत ही अकीदत के साथ होगा। इस दिन मुस्लिम समाज के अनेकों मासूम जन्म के बाद पहले रोजे का आगाज करेंगे। राजस्थान के अजमेर स्थित ख्वाजा साहब की दरगाह, मुस्लिम बाहुल्य क्षेत्र में मझला रोजे को लेकर मुस्लिम परिवार अति उत्साहित हैं क्योंकि उनके मासूम बच्चे घरों पर रहकर ही इबादत के साथ पहला रोजा रखेंगे। धर्म गुरुओं ने सभी रोजेदारों व मुस्लिम परिवारों से सरकारी लॉकडाउन व नियमों की सख्ती से पालना करने के साथ घरों पर ही दुआ करने की अपील की है।खास बात यह है कि मझले रोजे के साथ ही कल रमजान माह का दूसरा जुम्मा भी है जिसके तहत सभी मुस्लिम लोग घरों पर ही पिछले जुम्मे की तरह नमाज अदा कर मुल्क से कोरोना संक्रमण मुक्ति के लिए दुआ करेंगे।


उल्लेखनीय है कि रमजान माह 29 अथवा 30 दिनों का होता है और इसके मध्य में ही मझला रोजा पड़ता है और यह इस बार कल रमजान के 14वें दिन पड़ने जा रहा है।


टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

महिला से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में एक आरोपित गिरफ्तार

घर-घर में पूजी दियाड़ी, सहाड़ा के शक्तिपीठों पर विशेष पूजा अर्चना