तरबूज बेचने वाले ने 14 लोगों को किया कोरोना संक्रमित

अहमदाबाद। इन दिनों देश के अलग-अलग हिस्सों में सब्जी और फल बेचने वालों से कोरोना संक्रमण फैलने की खबरें सामने आ रही हैं। देश के कुछ राज्यों खासतौर पर गुजरात में कोरोना की स्थिति चिंताजनक हैं। राज्य में कोरोना संक्रमितों की संख्या 7 हजार के पार पहुंच गई है वहीं मृत्यु के आंकड़े 425 पर पहुंच गए हैं। इस बीच अहमदाबाद में सुपर स्प्रेडर के कारण कोरोना का संक्रमण फैल रहा है। अहमदाबाद के धोलका तहसील में एक दिन में 14 पोजिटिव मामले पाए जाने से प्रशासन सर्तक हुआ है। नारोल निवासी तरबूज विक्रेता कोरोना पोजिटिव था। वह जेतलपुर मार्केट से तरबूज खरीद कर धोलका जहां बेचता था, वहां एक साथ 14 लोग संक्रमित पाए गए।


अहमदाबाद में गली-मुहल्लों में सब्जी व फल बेचने वाले व्यक्ति कोरोना पोजिटिव पाए गए हैं। उनके संपर्क में आए अभी तक 150 से अधिक लोगों को भी कोरोना का संक्रमण हुआ है। प्रशासन इन्हे सुपर स्प्रेडर का नाम दिया है। अहमदाबाद मनपा ने शहर में दुध-दवा के लिए अलावा सभी तरह की दुकाने खोलने पर प्रतिबंध लगा दिया है। साग-सब्जी की बिक्री भी नहीं की जा रही है।


ऐसे में धोलका में तरबूच बेचने वाला सुपर स्प्रेडर साबित हुआ है। उसने 14 लोगों को कोरोना का संक्रमण दिया है। धोलका के वेजलपुर, गोलवाड़ में सात लोग, भीमशेख की पोल में दो, सरस्वती सोसायटी में एक, खारकुआं में एक और धोलका के बलथेरा में दो व्यक्तियों का कोरोना पॉजिटिव आया है।


जिला विकास अधिकारी अरुण महेश बाबू ने बताया कि उन्होंने अधिकारियों के साथ यहां का दौर कर स्थिति की समीक्षा की है साथ ही नगरपालिका को आवश्यक कदम उठाने का आदेश दिया। यहां धोलका में बड़े पैमाने पर सब्जी बेचने वाले अपनी रेहड़ी के साथ इधर-उधर चक्कर लगाते रहते हैं। ये यहां पर सुपर स्प्रेडर की भूमिका में है। इन्हें रोकने के लिए पुलिस और प्रशासन के आदेश दे दिए हैं।


गौरतलब है कि राज्य में अभी तक कोरोना संक्रमितों की संख्या 7013 तक पहुंच गई है। इससे मरने वालों की तादाद 425 और राज्य के 33 मे से 12 जिलों में कोरोना संक्रमित पाये गये है। राज्य सरकार अहमदाबाद के सिविल हॉस्पीटल में 1200 बेड सहित शहर के सात अस्पतालों में चिकित्सा सुविधा उपलब्ध करवाया है।


टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

महिला से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में एक आरोपित गिरफ्तार

घर-घर में पूजी दियाड़ी, सहाड़ा के शक्तिपीठों पर विशेष पूजा अर्चना