तृतीय अखिल भारतीय वर्चुअल कवि सम्मलेन और दीपावली स्नेह सम्मेलन संपन्न


  भीलवाड़ा हलचल।  राष्ट्रीय सिंधी समाज द्वारा तृतीय अखिल भारतीय वर्चुअल कवि सम्मलेन और दीपावली स्नेह सम्मेलन राष्ट्रीय अध्यक्ष कमल वरधानी की अध्यक्षता में सफलतापूर्वक संपन्न हुआ। कार्यक्रम की शुरुआत महिला उपाध्यक्ष अनीता शिवनानी द्वारा कोरोना काल में वेबीनार के माध्यम से राष्ट्रीय अंतरराष्ट्रीय स्तर के हुए कार्यक्रमों की जानकारी दी।
         युवा अध्यक्ष राजकुमार दरियानी ने बताया कि संचालिका विनीता मोटलानी ने हर कव्यित्री और शायर का परिचय शेरो शायरी के माध्यम से देकर सब को बांधे रखा। हेमा मालानी जयपुर ने सिंधी मुशायरे की शुरुआत करते हुए बड़ी मासूमियत से ’’जिंदगी की दौड़ में कच्ची हूं क्योंकि अभी तक मैं सच्ची हूं’’ सुनाई। आकाशवाणी और दूरदर्शन जयपुर से पूजा चांडवानी ने मेरा भारत एक है सुंदर भारत एक है देशभक्ति पर कविता सुनाई। मंजू मीरवानी गांधीधाम ने दिवाली आई दिवाली आई घर की सफाई हुई दिमाग की सफाई रह गई से सबकी वाहवाही लूटी। गांधीधाम से ही शायर नानक लतीफ ने आप कहें भारत मां पर गजल लिखूं दाहिर सेन बिलावल हेमू कालानी पर लिखूं कविता में सिंधी शख्सियतों का सुंदर वर्णन दिया। सुविख्यात गोवर्धन शर्मा घायल पुणे ने अपने चिर परिचित अंदाज से सत्य कर्म चले हैं इंसाफ को न कुचले ऐसी जिंदगी चाहिए गजल सुनाई। आकाशवाणी दिल्ली से रिनी मीरारजा ने इश्क इलाही किया है मैंने गुनाह तो नहीं किया है मैंने गजल सुनाई। सुप्रसिद्ध गीतकार संगीतकार और गायक नारी लच्छवानी भोपाल ने ’वह खुद को सही कह रहा है मेरे दिल में रहकर कह रहा है’ मुशायरे को ऊंचाइयां दी ।
         शायरा विनीता मोटलानी इंदौर ने सूर्य ग्रहण पर नारी की स्थिति का चित्रण करते हुए कहा कि ’था वह ग्रहण का दिन हाथ में रोटी आटे का दिया और घी’ ।
         बल्लू चोइथानी भोपाल ने कोरोना बीमारी पर मजाकिया अंदाज में वेबीनार में मौजूद 64 प्रतिभागियों को हंसाया और कहा ’अभी तक फुफकार रही है जैसे नागिन कारी कोरोना  जैसी ना हुई कोई बेशर्म बीमारी’, अर्जुन चावला अलीगढ़ यूपी ने ष्तुम चाहते तो हालात बदल सकते थे कुछ नए अक्स दीवार पर उभर सकते थे। अमूल आहूजा रहमी दिल्ली ने सभी शहरों का परिचय दिया और खुद भी एक कविता सुनाई।
         राष्ट्रीय सिंधी समाज के महासचिव मुकेश सचदेव द्वारा विभिन्न शहरों में कोरोना काल में किए गए कार्यों की जानकारी दी। अध्यक्ष कमल वरधानी ने जानकारी दी कि एक कन्या की शादी,और बच्चों की पढ़ाई पर आर्थिक मदद करने पर डॉ लाल थदानी डॉ दीपा थदानी एव सिन्धी हेरिटेज डायरेक्टर नारायण गीता बाब्लानी  का सार्वजनिक अभिनंदन किया जाएगा। नारायण बबलानी ने सभी का आभार जताया और उम्मीद जताई कि सिंधी बोली, सभ्यता और संस्कृति के संरक्षण संवर्धन में सिंधी हेरिटेज के कार्यक्रमों में सबका सहयोग मिलता रहेगा।
         कार्यक्रम की सफलता में राष्ट्रीय सिंधी युवा अध्यक्ष राजकुमार दरियानी, दिल्ली से डॉ. दीक्षिता अजवानी, छत्तीसगढ़ से राधा राजपाल, शंकरलाल दानवानी, बड़ोदरा से गुल माखीजानी, कोटा से सुरेश चावला, नागपुर से लालचंद मोटवानी, चेन्नई से हरीश थदानी का सराहनीय सहयोग रहा।



टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

महिला से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में एक आरोपित गिरफ्तार

घर-घर में पूजी दियाड़ी, सहाड़ा के शक्तिपीठों पर विशेष पूजा अर्चना