पार्षद के सूने मकान के दिनदहाड़े टूटे ताले, नकदी और सोना-चांदी के आभूषण ले गये चोर, दहशत में ग्रामीण

 भीलवाड़ा प्रेमकुमार गढ़वाल। जिले के हनुमान नगर थाना इलाके के ऊंचा गांव स्थित एक पार्षद के सूने मकान के दिनदहाड़े चोरों ने ताले तोड़कर हजारों रुपये की नकदी व सोने-चांदी के जेवरात पर हाथ साफ कर लिया। चोरी की यह वारदात दोपहर साढ़े बारह से सवा तीन बजे के बीच हुई। इस दौरान परिवार के सभी सदस्य घर से बाहर थे। इस बड़ी चोरी को लेकर गांव के लोग दहशत में हैं। 
हनुमानगर थाने के सब इंस्पेक्टर लीलाराम ने हलचल को बताया कि ऊंचा निवासी पार्षद पवन कुमार महाजन मंगलवार को नगर पालिका  चले गये। उनकी पत्नी व बेटी गांव में ही रिश्तेदार के यहां, जबकि पिता भी घर से बाहर थे। इसके चलते दोपहर साढ़े बारह से सवा तीन बजे के बीच मकान सूना था। चोरों ने इसका फायदा उठाकर मकान के ताले तोड़ दिये और अंदर प्रवेश कर सार-संभाल की। इस दौरान घर में रखे 72 हजार रुपये नकद, सोने की चूडिय़ां, टोप्स, चांदी के 35 सिक्कों सहित अन्य आभूषण इन चोरों के हाथ लग गये। दोपहर करीब सवा तीन बजे पवन के पिता किशन लाल महाजन अपने घर लौटे। 
उन्हें मेनगेट अंदर से बंद मिला। उन्होंने आवाज दी, लेकिन अंदर से कोई जवाब नहीं मिला। वे, पीछे की ओर गये तो मकान से तीन से चार चोर निकल कर भाग गये। किशन लाल बुजुर्ग होने से उनका पीछा नहीं कर पाये। साथ ही कम दिखने के कारण वे चोरों को पहचान भी नहीं सके। बाद में परिवार के सदस्य घर लौटे और सार-संभाल की तो नकदी व गहने गायब मिले। इसकी सूचना पुलिस को दी। इस पर थानेदार लीलाराम मय जाब्ता मौके पर पहुंचे और वारदातस्थल का जायजा लेते हुये चोरी की रिपोर्ट प्राप्त की। पुलिस ने मामला दर्ज कर चोरों की तलाश शुरू कर दी। 

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

देवगढ़ से करेड़ा लांबिया स्टेशन व फुलिया कला केकड़ी मार्ग को स्टेट हाईवे में परिवर्तन करने की मांग

घर-घर में पूजी दियाड़ी, सहाड़ा के शक्तिपीठों पर विशेष पूजा अर्चना