कोरोना पर सख्ती: राजस्थान में अब रात 10 बजे से नाइट कफ्र्यू, रात 9 बजे होंगे बाजार बंद, आठवीं तक स्कूल बंद करने की तैयारी

 

जयपुर। राजस्थान में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए सरकार ने और सख्ती शुरू कर दी है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की अध्यक्षता में बुधवार को कोरोना कोर ग्रुप की बैठक में नई गाइडलाइन को मंजूरी दी गई। गृह विभाग अब नई गाइडलाइन जारी करेगा। राजधानी जयपुर सहित कोरोना प्रभावित आठ शहरों में 11 की जगह अब रात 10 बजे से नाइट कफ्र्यू लगाने का फैसला किया गया है। प्रदेश में सभी शहरों में रात 9 बजे से ही बाजार बंद होंगे। पहले यह समय 10 बजे का था।
बैठक में आठवीं तक के स्कूलों को बंद करने पर भी विचार किया गया है। कोचिंग संस्थान, स्वीमिंग पूल को लेकर भी सख्ती बढ़ाने का फैसला किया है। गृह विभाग की गाइडलाइन में कोचिंग बंद करने या विद्यार्थी संख्या को लेकर सख्त पाबंदियां लगाई जा सकती हैं। स्वीमिंग पूल को लेकर भी नई पाबंदियां लगना तय हैं।
इससे पहले 21 मार्च को गृह विभाग ने कोरोना गाइडलाइन जारी कर पांबदियां लगाई थीं, जिनमें आठ शहरों में रात 11 बजे से नाइट कफ्र्यू लगाने का फैसला किया था। 22 मार्च से राजधानी जयपुर, अजमेर, भीलवाड़ा, जोधपुर, कोटा, उदयपुर, सागवाड़ा और कुशलगढ़ में नाइट कफ्र्यू है। रात 10 बजे से बाजार बंद करने की पाबंदी भी इसी दिन लगाई थी। अब कोरोना मामले बढऩे के बाद फिर से नई गाइडलाइन जारी हो रही है। 21 मार्च को जब पाबंदियां लगाई थीं, उस दिन 476 कोरोना केस थे, अब केस दोगुने हो चुके हैं और लगातार बढ़ रहे हैं।
बिना मास्क वाले को सामान दिया तो दुकान सीज
बाजारों सहित हर जगह नो मास्क नो एंट्री की सख्ती से पालन करवाने के निर्देश दिए गए हैं। कोई भी दुकानदार अगर बिना मास्क रहता है या बिना मास्क वाले को सामान देगा तो उसके खिलाफ  जुर्माना लगाने के साथ उसकी दुकान सीज की जा सकती है।
जिलेवार एक्शन प्लान बनेगा
मुख्यमंत्री ने बैठक में कोविड कंट्रोल को लेकर जिलेवार एक्शन प्लान बनाने के निर्देश दिए हैं। कलेक्टरों को कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग व माइक्रो कंटेनमेंट जोन बनाने पर फोकस करने को कहा है।
किसी भी कीमत पर कोई कम्प्रोमाइज नहीं करेंगे: गहलोत
कोरोना समीक्षा बैठक के बाद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सोशल मीडिया पर लिखा—नो मास्क नो एंट्री की सख्ती से पालना सुनिश्चित की जाए। लोगों का जीवन बचाना हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता है। आज की स्थिति में बढ़ते हुए संक्रमण को देखते हुए हम किसी भी कीमत पर कोई कम्प्रोमाइज नहीं करेंगे और जरूरी फैसले लिए जाएंगे। टीकाकरण की गति को और बढ़ाया जाएगा।

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

घर-घर में पूजी दियाड़ी, सहाड़ा के शक्तिपीठों पर विशेष पूजा अर्चना

महिला से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में एक आरोपित गिरफ्तार