कतार: कोरोना सैंपलिंग के लिए करना पड़ रहा इंतजार...


भीलवाड़ा (संपत माली)। भीलवाड़ा सहित प्रदेशभर में कोरोना संक्रमण लगातार बढ़ रहा है। रोज आने वाली कोरोना संक्रमितों की रिपोर्ट के आंकड़े बताते हैं कि भीलवाड़ा में कोरोना संक्रमण तेजी से फैल रहा है। यह स्थिति सही नहीं है। कोरोना के केस कम होने के बाद लोग लापरवाह हो गए हैं। मास्क नहीं लगाते। दो गज की दूरी को तो भूल ही गए हैं। सैनेटाइजर व साबुन से बार-बार हाथों को धोना गुजरे जमाने की बात हो गई है। इसी का नतीजा है कि दम तोड़ते कोरोना में फिर से जान आ गई है। अभी जिस तरह का कोरोना संक्रमण फैल रहा है उसे कोरोना की दूसरी लहर नाम दिया गया है। कहा जा रहा है कि कोरोना की दूसरी लहर पहली लहर से ज्यादा खतरनाक है और इसमें एक कोरोना संक्रमित सीधे पांच लोगों को संक्रमित करता है। सर्दी, खांसी और जुकाम के साथ ही अब कोरोना के लक्षणों में पेट दर्द और उल्टी-दस्त जैसी बीमारियां भी आ गई हैं।
जिले के सबसे बड़े महात्मा गांधी अस्पताल में कोरोना का खौफ इस कदर है कि सामान्य सर्दी जुकाम व खांसी वाले मरीज को सीधे कोरोना टेस्ट के लिए भेजा जा रहा है। वहीं कई लोग स्वेच्छा से कोरोना की जांच करवाने महात्मा गांधी अस्पताल परिसर में बनाए गए कोरोना सेंटर पर पहुंच रहे हैं। ऐसे में जांच कराने के लिए लोगों को कतार में लगना पड़ रहा है। एक मरीज की जांच में करीब तीन से चार घंटे या इससे भी ज्यादा समय लग रहा है। ऐसे में जांच के लिए आने वाले लोगों को तेज गर्मी व धूप में अपनी बारी का इंतजार करना पड़ रहा है।
जांच कराने आए लोगों का कहना था कि कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए जांच काउंटर बढ़ाए जाने चाहिए जिससे कि लोगों को राहत मिल सके।
इस संबंध में डिप्टी सीएमएचओ डॉ. घनश्याम चावला का कहना है कि कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए सैंपलिंग की जांच की संख्या बढ़ाई गई है। अधिक से अधिक संख्या में कोरोना की जांच की जा रही है। इसके अलावा लोगों को जागरूक कर कोरोना गाइडलाइन की पालना करने के लिए प्रेरित किया जा रहा है।
 

Popular posts from this blog

भीलवाड़ा नगर परिषद चुनाव : भाजपा ने 31, कांग्रेस ने 22 और निर्दलीय ने जीती 17 सीटें, बोर्ड के लिए जोड़ तोड़

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक

सिपाहियों के कातिल जोधपुर और बाड़मेर के, एक फौजी भी शामिल !