लुटेरों ने फिर दी दस्तक, बुजुर्ग महिला से पता पूछने के बहाने लूटे गहने, लातों से की मारपीट

 

 भीलवाड़ा प्रेमकुमार गढ़वाल। गांवों के सुनसान रास्तों पर बुजुर्ग ग्रामीणों को लूटने वाली गैंग ने बुधवार को एक बार फिर दस्तक देते हुये एक महिला के गहने लूट लिये। ताजा वारदात बड़लियास थाना इलाके में हुई है।, जहां पता पूछने के बहाने इन बदमाशों ने महिला से लूटपाट और मारपीट की। पुलिस अब बदमाशों तक पहुंचने के लिए इलाके में लगे सीसी टीवी फुटेज खंगाल रही है। वहीं दिनदहाड़े इस लूट की वारदात से ग्रामीणों में दहशत है। आये दिन इस तरह की वारदात हो रही है, लेकिन लुटेरे पुलिस के हाथ नहीं लग पा रहे हैं। ऐसे में ग्रामीण इलाकों के बुजुर्ग घरों से निकलने में भी डरने लगे हैं। 
जानकारी के अनुसार, खजीना निवासी गीता (70) पत्नी मांगीलाल सुथार बुधवार सुबह घर से खेत की ओर जा रही थी। खजीना-आकोला मार्ग पर सुनसान जगह पर गीता को बाइक से आये तीन बदमाशों ने रोक लिया। गीता से इन बदमाशों ने किसी का पता पूछते हुये उसे अकेला पाकर रामनामी, मांदलिया और नथ लूट ली। पीडि़ता का कहना है कि बदमाशों ने उसे लातों से मारा। इसके बाद वे, बाइक से फरार हो गये। तीन में से एक लुटेरा सफेद शर्ट पहने था और उसके बाल भी लंबे थे।  उधर, लूट की शिकार महिला ने इस वारदात की जानकारी ग्रामीणों के जरिए पुलिस को दी। पुलिस ने बदमाशों के बारे में जानकारी जुटाते हुये जिले में नाकाबंदी करवाई, लेकिन अभी तक बदमाशों का पता नहीं चल पाया है। पुलिस क्षेत्र में लगे सीसी टीवी फुटेज खंगाल कर बदमाशों तक पहुंचने का प्रयास कर रही है। उल्लेखनीय है कि ये बदमाश जिले में आये दिन वारदातों को अंजाम देकर ग्रामीणों में दहशत फैला रहे हैं।  

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

देवगढ़ से करेड़ा लांबिया स्टेशन व फुलिया कला केकड़ी मार्ग को स्टेट हाईवे में परिवर्तन करने की मांग

घर-घर में पूजी दियाड़ी, सहाड़ा के शक्तिपीठों पर विशेष पूजा अर्चना