बचपन के टूटते रिस्तों के बावजूद बेटियां बना रही है पहचान

 


जामोली जहाजपुर। बाल विवाह जैसी कुप्रथाएं परिवारों में विघटन का कारण बन रही है। सुखद बात यह है कि बेटियों के अन्दर षिक्षा से आये बदलाव से कुछ कर गुजरने की इच्छा प्रबल हुई है। बचपन की शादी में टूटने के बावजूद बालिका बधुवों में पढाई का जज्बा कम नही हुआ है। राज्य सरकार की ओर से चलाए जा रहे बाल संरक्षण संकल्प यात्रा की जामोली ग्राम पंचायत में भ्रमण कार्यक्रम अन्तर्गत घर घर दस्तक के दौरान साहसी बेटियों ने अपनी बात खुल कर रखा। रामपुरा की पिंकी बताती है कि 15 वर्ष की उम्र मंे मामा के लडके की शादी नही हो रही था आटा-साटा में परणा दी गई ससुराल वालों को पढाई पर एतराज था जिसके चलते रिस्ता टूट गया मगर पढाई नही छोडी। बी.एड कर रही है अध्यापिका बनने की हसरत पाले हुई है। 

तेजा जी मुहल्ला की मोनू की 15 वर्ष की उम्र में मोनू और उसकी बहन गुडिया की शादी हो गई थी पति का पढाई से एतराज था रिस्ता बिगड गया लेकिन उसने पढाई नही छोडा। बीएड की परीक्षा उत्तीर्ण कर अध्यापिका बनने की हसरत पाले हुई है। बाल अधिकारिता विभाग, यूनिसेफ एवं पीसीसीआरसीएस के संयुक्त तत्वावधान में चलाए जा रहे बाल संरक्षण संकल्प यात्रा के पांचवे चरण की बारवें दिन जामोली के राउमा विद्यालय में बाल हिंसा, बाल विवाह, बालश्रम जैसे मुददों पर बच्चों के साथ संगोष्ठी, सांप सीढी का खेल जैसे कई मनोरंजक नवाचार किये गये जिसमें बच्चों का उत्साह देखते ही बन रहा था। यात्रा का दुसरा दल ग्राम पंचायत जामोली पहुंचा जहां सरंपच देवराज गुर्जर की अध्यक्षता में पंचायत स्तरीय बाल संरक्षण ईकाइ का गठन कर सदस्यों का क्षमतावर्धन किया गया तथा बच्चों के सुरक्षा, संरक्षण जैसे मुददों पर चर्चा की गइ। घर घर दस्तक के दौरान एक दर्जन सामाजिक सुरक्षा योजनाओं के आवेदन आनलाईन कराने की प्रक्रिया प्रारम्भ की गई। इस अवसर पर सरंपच देवराज गुर्जर, पंचायत सहायक रमेष, एलडीसी षिवदयाल, के साथ यात्रा समन्वयक कैलाष सैनी-सीताराम गुर्जर, सोना बैरवा, मंजित सिंह, सफिस्ता ,खान, राकेष वर्मा, उपस्थित थे।

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

मुंडन संस्कार से पहले आई मौत- बेकाबू बोलेरो की टक्कर से पिता-पुत्र की मौत, पत्नी घायल, भादू में शोक

जहाजपुर थाना प्रभारी के पिता ने 2 लाख रुपये लेकर कहा, आप निश्चित होकर ट्रैक्टर चलाओ, मेरा बेटा आपको परेशान नहीं करेगा, शिकायत पर पिता-पुत्र के खिलाफ एसीबी में केस दर्ज

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार