अजमेर-चित्तौड रेल लाइन डबल लाइन में होगी परिवर्तित

भीलवाडा (हलचल) । अजमेर-चित्तौड के मध्य 186 किमी लम्बी रेल लाइन को वर्ष 2020-21 में डबल लाइन में परिवर्तित किया जाएगा। साथ ही दिल्ली-जयपुर-उदयपुर-अहमदाबाद के मध्य बुलेट ट्रेन चलाने के लिए हाईस्पीड रेल कोरीडोर निर्माण के लिए डीपीआर बनाने का कार्य हाथ में लिया गया है। यह जानकारी उत्तर पश्चिम रेलवे के महाप्रबंधक आनन्द प्रकाश ने ’’रेलवे के साथ व्यवसाय के अवसर’’ विषय पर आयोजित वेबीनार में कही। मेवाड चेम्बर की ओर से रेलवे लॉजिस्टिक कमेटी के चेयरमेन वी के मानसिंगका ने भाग लिया।
आनन्द प्रकाश ने बताया कि अगले 2 वर्षो में उत्तर-पचिश्म रेलवे में 58 किमी लम्बी नई लाइन, 243 किमी गेज परिवर्तन, 212 किमी डबल लाइन, 1079 किमी ट्रेक रिन्युअल एवं 119 ऑवरब्रीज या अण्डरब्रीज निर्माण का कार्य किया जाएगा। जिसके लिए 400 करोड से अधिक सीमेन्ट, स्टील, गिट्टी एवं अन्य मेटेरियल की आवश्यकता होगी। पूर्व में रेलवे से रजिस्टर्ड सप्लायर्स के अतिरिक्त नये सप्लायर्स भी रेलवे को माल सप्लाई के लिए रजिस्टर करवा सकते है।
चेम्बर के मानद महासचिव आर के जैन ने बताया कि रेलवे के मुख्य मेटेरियल मेनेजर अतुल गुप्ता ने जानकारी दी कि राजस्थान के एमएसएमई उद्योग रेलवे को वायर, केबल, बियरिंग, वाटर टेंक्स, ट्रांसफार्मर, सौलर इलेक्ट्रीफिकेशन आदि सप्लाई कर सकते है, इसके लिए निर्धारित वैण्डर रजिस्ट्रेशन करवाना होगा।


टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार

महिला से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में एक आरोपित गिरफ्तार

डॉक्टरों ने ऑपरेशन के जरिये कटा हुआ हाथ जोड़ा