बजरी के ट्रेक्‍टर की चपेट में आने से बालक की मौत

 

शाहपुरा -(मूलचन्द पेसवानी) शाहपुरा क्षेत्र के अरनिया घोड़ा पंचायत के नारायणपुरा गांव में आज अलसुबह बजरी से भरे ट्रेक्टर ट्रोली की चपेट में आने से एक बालक की मौत हो गयी है। मौत के बाद गुस्साये ग्रामीणों ने गांव में ही शव को रखकर प्रदर्षन किया जिस पर उपखंड अधिकारी डा. षिल्पा सिंह, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक विमल सिंह नेहरा व पुलिस उपाधीक्षक भारतसिंह, शाहपुरा थाना प्रभारी मय जाब्ते के मौके पर पहुंचे है। ग्रामीण जिला कलेक्टर को मौके पर बुलाने व बजरी माफियाओं के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग कर रहे है।
ग्रामीणों के अनुसार अरनिया घोड़ा व तहनाल बहाले से बजरी दोहन में कई ट्रेक्टर लगे है। यहां कतिपय लोगों द्वारा समूह बनाकर बाकायदा अपने स्तर पर ही बजरी की रायल्टी तक वसूल की जाती है। आज सुबह भी तेज गति से आये बजरी से भरे ट्रेक्टर ट्रोली ने गांव में ही रास्ता पार कर रहे 14 वर्षीय देवराज पुत्र पुसालाल कुमावत को चपेट में ले लिया। देवराज की मौके पर ही मौत हो गयी। टेªक्टर चालक मौके से फरार हो गया। हादसे की सूचना मिलते ही काफी तादाद में ग्रामीण जमा हो गये तथा उच्च अधिकारियों को मौके पर बुलाने की मांग पर अड़ गये। उपखंड अधिकारी डा. षिल्पा सिंह, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक विमल सिंह नेहरा व पुलिस उपाधीक्षक भारतसिंह, शाहपुरा थाना प्रभारी मय जाब्ते के मौके पर पहुंचे तथा ग्रामीणों से वार्ता कर रहे है।
ग्रामीणों का आरोप है कि बजरी का अवैध तरीके से खनन पिछले लंबे समय से चल रहा है। फिर भी पुलिस व राजस्व विभाग द्वारा कोई कार्रवाई न करने के कारण आज यह हादसा हो गया। सूचना पर पूर्व उप प्रधान बजरंगसिंह राणावत भी मोके पर पहुंचे। ग्रामीणों से समझाईष कर बजरंगसिंह राणावत ने भी बजरी माफियों पर षिकंजा कसने की मांग की है।



टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार

महिला से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में एक आरोपित गिरफ्तार

डॉक्टरों ने ऑपरेशन के जरिये कटा हुआ हाथ जोड़ा