फेफड़ों को साफ करने के साथ प्रदूषण से बचाएगी ये हर्बल चाय!

जैसे ही तापमान में गिरावट आती है, वैसे ही हवा में प्रदूषण का स्तर बढ़ जाता है। सर्द मौसम के साथ हवा की गुणवत्ता इतनी गिर जाती है, कि लोगों का सांस लेना भी मुश्किल हो जाता है। प्रदूषण अगर सांस के ज़रिए फेफड़ों में चला जाए, तो इससे अस्थमा, ब्रोंकाइटिस, निमोनिया और ऐसी ही फेफड़ों से जुड़ी कई बीमारियां हो सकती हैं। इसलिए इस मौसम में अपने फेफड़ों को धूल के कणों से बचाना बहुत महत्वपूर्ण हो जाता है।  


वायु प्रदूषण के बढ़ते स्तर पर चिंता जताते हुए, लाइफस्टाइल और वेलनेस कोच ल्यूक कॉउटिन्हो ने हाल ही में अपने इंस्टाग्राम हैंडल पर एक घरेलू उपाय साझा किया जो आपके फेफड़ों को साफ करने में मदद कर सकता है। ल्यूक ने अपनी पोस्ट में एक विशेष चाय का उल्लेख किया है जो आपके फेफड़ों को साफ रखने और आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ावा देने में मदद कर सकती है


इस चाय को पीने के फायदे


ये चाय ऐसे प्राकृतिक मसालों और औषधियों को मिलाकर बनती है, जो घर में आसानी से मिल जाते हैं और अपने औषधीय गुणों के लिए जाने जाते हैं। इस चाय को पीने से प्रतिरक्षा को बढ़ावा देने में मदद मिलती है, जो इस समय विशेष रूप से महत्वपूर्ण है, ये ऐसा वक्त है जब कोरोना वायरस ​​मामलों की संख्या बढ़ने के साथ फ्लू के मामले भी आने शुरू होंगे। 


 


इसके लिए आपको चाहिए


एक अंच कद्दूकस किया हुआ अदरक


दालचीनी की एक छोटा टुकड़ा


आधा छोटा चम्मच तुसली के पत्ते


एक छोटा चम्मच ऑरीगैनो


तीन काली मिर्च


दो हरी इलाइची कुचली हुई


1/4 छोटा चम्मच सौंफ


चुटकी भर अजवाइन 


1/4th छोटा चम्मच  ज़ीरा


ऐसे बनाएं हर्बल चाय


एक गहरे पैन में एक ग्लास पानी के साथ ये सभी चीज़ें डाल दें। इस काढ़े को 10 मिनट तक उबलने दें और फिर छान कर एक कप में डाल लें।  चाय का स्वाद बेहतर करने के लिए आप इसमें ऑरगैनिक या कच्चा शहद या फिर गुड मिला सकते हैं। इम्यूनिटी को बढ़ावा और फेफड़ों को साफ करन के लिए सुबह दूध वाली चाय या फिर कॉफी पीने की जगह इसे पिएं। इस हर्बल चाय को दिन में एक बार पीना ही काफी है।


टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

महिला से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में एक आरोपित गिरफ्तार

घर-घर में पूजी दियाड़ी, सहाड़ा के शक्तिपीठों पर विशेष पूजा अर्चना