देश में ताली, थाली, मजीरे व शंखनाद कर कोरोना के खिलाफ लड़ रहे कर्मवीरों का किया शुक्रिया

भीलवाड़ा (हलचल)। जनता कफ्र्यू के दौरान सुबह 7 बजे से घरों में कैद लोग शाम ठीक 5 बजे घर की छतों, बालकनी व सड़कों पर ताली, थाली, घंटियां, शंख, मजीरे और ढोल-नगाड़े बजाकर एकजुटता का संदेश ही नहीं दिया बल्कि कोरोना से मुकाबला करने के लिए चिकित्सा व पुलिस महकमे की हौसला अफजाई करने में कोई कंजूसी नहीं दिखाई।


शहर का पढ़ा-लिखा युवा हो या बुजुर्ग, हर व्यक्ति थाली और ताली बजाते नजर आया। शंखनाद और आतिशबाजी के साथ ही ताली और थाली से गली-मोहल्ले गूंज उठे।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आह्वान पर आज देश का बच्चा-बच्चा एकजुट नजर आया है। दिनभर मकानों में कैद रहने के बाद शाम 5 बजे जोश के साथ हर कोई थाली, ढोल-नगाड़े, ढोलक, मजीरे व शंख बजाते नजर आया। यह पहला मौका होगा जब शायद इस तरह से देशभर में एक साथ हर व्यक्ति कोरोना वायरस के खिलाफ शंखनाद करता नजर आया है। कई गली-मोहल्लों में तो लोगों ने इसे उत्सव के रूप में मनाया है।
शहर के आरसी व्यास, सुभाष नगर कॉलोनी के साथ ही संजय कॉलोनी में भी लोगों में ताली और थाली बजाने का उत्साह दिखाई दिया। संजय कॉलोनी में रमेश तोषनीवाल शंख बजाते नजर आए जबकि कल्किपुरा में एक मासूम अपने परिजनों के साथ थाली बजाता दिखा। ये तो उदाहरण है वैसे पूरा शहर और जिले के हर गांव और हर गली में आज यह एक अलग ही नजारा ताली और थाली का था। साथ ही आज पुरखों की वह बात याद आ गई कि इस तरह की ध्वनि से कई तरह की दिक्कतें दूर होती हैं। जवाहरनगर, बापू नगर, चपरासी कॉलोनी और शास्त्रीनगर के साथ पुराना शहर के अलग-अलग मिश्रित ध्वनि के नजारे कानों में अलग ही राग सुनाते नजर आए।
किसी ने नहीं किया परहेज..



प्रधानमंत्री के आह्वान पर आज सरकारी कर्मचारी हो, कांग्रेस या भाजपा का नेता, हर कोई ताली और थाली बजाते नजर आया है। पुलिस अधीक्षक के आवास में भी इस तरह पुलिसकर्मी पहली बार थाली बजाते नजर आए हैं वहीं जिला प्रमुख शक्तिसिंह हाड़ा ने भी शंख बजाया तो कालूलाल गुर्जर ने घंटा बजाकर कोरोना वायरस को भगाने व प्रधानमंत्री का समर्थन करने की बात कही। शास्त्रीनगर में पार्षदा मंजू पोखरणा, मधु जाजू, पीयूष डाड, अनिता राजावत के साथ ही कई नेता भी थाली और ताली बजाई।   
कलेक्टरी में भी बजी तालियां...
एक ओर जहां जिला कलेक्टर और प्रशासनिक व चिकित्सा अधिकारी मुख्यमंत्री के साथ कोरोना से जंग में वीडियो कांफ्रेंस कर रहे थे वहीं कर्मचारी प्रधानमंत्री के आह्वान पर ताली बजाकर चिकित्साकर्मियों की हौसला अफजाई करते नजर आए।
गुर्जर मोहल्ला और पंजाबी गली में उत्सव जैसा माहौल...
पंजाबी गली और गुर्जर मोहल्ले में लोगों ने उत्सव की तरह न केवल शंखनाद किया बल्कि ताली, थाली व ढोलक बजाते नजर आए।
मंदिरों में भी बजे घंटे-घडिय़ाल...
शहर के साथ-साथ ग्रामीण क्षेत्रों के मंदिरों में भी घंटे-घडिय़ाल लोगों ने खूब बजाए। हर कोई कोरोना वायरस को परास्त करता नजर आया है। कई जगह तो लोगों ने आधे घंटे तक ताली और थाली बजाई। कई ऐसे भी नजारे दिखाई दिए जो शायद या तो कोरोना वायरस से डर रहे थे या चिकित्सा विभाग के जांबाजों की हौसला अफजाई कर रहे थे। बुजुर्ग महिलाएं जो आसानी से चल-फिर भी नहीं सकती, वे भी ताली-थाली बजाती नजर आईं। 
      


टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार

महिला से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में एक आरोपित गिरफ्तार

घर-घर में पूजी दियाड़ी, सहाड़ा के शक्तिपीठों पर विशेष पूजा अर्चना