ओलावृष्टि से प्रभावित किसानों से मिलने जाएंगे सरकार के मंत्री, मुख्यमंत्री अशोक गहलोत

जयपुर, राजस्थान में चार, पांच व छह मार्च को ओलावृष्टि से फसलों और जानमाल के नुकसान का जायजा लेने तथा प्रभावित से मिलने के लिए सरकार के मंत्री रविवार को जिलों में जाएंगे। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सभी मंत्रियों को अपने प्रभार वाले जिलों में जाने के निर्देश दिए है। प्रभारी मंत्री इस दौरान किसानों से मुलाकात करेंगे और संबंधित जिला कलक्टर व अन्य अधिकारियों के साथ बैठक कर फसल खराबे की स्थिति का आकलन करेंगे।


राज्य सरकार ने महिला एवं बाल विकास मंत्री ममता भूपेश को अलवर, ऊर्जा मंत्री डॉ. बीडी कल्ला को बाड़मेर, खेल मंत्री अशोक चांदना को भरतपुर, विधायक हरीश चैधरी को दौसा, शिक्षा राज्य मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा को हनुमानगढ़ और श्रीगंगानगर की जिम्मेदारी दी है। वहीं यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल को जयपुर, कृषि मंत्री लालचंद कटारिया को जोधपुर, पर्यटन मंत्री विश्वेंद्र सिंह को करौली, श्रम मंत्री टीकाराम जूली को सवाई माधोपुर, परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास को बूंदी, अल्पसंख्यक मामलात मंत्री सालेह मोहम्मद को बीकानेर, तकनीकी शिक्षा राज्यमंत्री डॉ. सुभाष गर्ग को चूरू, उद्योग मंत्री परसादी लाल मीणा को झुंझुनू और वन एवं पर्यावरण मंत्री सुखराम बिश्नोई को नागौर जाने के लिए कहा गया है। प्रभारी मंत्री स्थिति का जायजा लेने के बाद अपनी रिपोर्ट मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को सौंपेंगे। गौरतलब है कि राजस्थान में 4,5 और 6 मार्च को बेमौसम हुई बारिश व ओलावृष्टि ने किसानों की खडी फसल बर्बाद कर दी। लगभग पूरे प्रदेश में सरसों-गेहूं की फसल कटाई का समय आने वाला था और ओलावृष्टि ने सब खत्म कर दिया।


टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार

महिला से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में एक आरोपित गिरफ्तार

डॉक्टरों ने ऑपरेशन के जरिये कटा हुआ हाथ जोड़ा