अवकाश होने से नामांकन प्रक्रिया नहीं हुई, रिटर्निंग अधिकारी कार्यालय में पसरा रहा सन्नाटा

 चित्तौड़गढ़ हलचल।   पंचायत आम चुनाव 2020 के नाम निर्देशन कार्यक्रम की गहमागहमी के बीच आज रविवार का अवकाश रहा। अवकाश होने से नामांकन प्रक्रिया नहीं हुई और रिटर्निंग अधिकारी कार्यालय में सन्नाटा पसरा रहा। कल   9 नवम्बर 2020 को नामांकन का अंतिम दिन है। इस दिन निर्धारित समय प्रातः 11.00 बजे से दोपहर 3.00 बजे तक नामांकन प्रक्रिया जारी रहेगी। 
              
               रिटर्निंग अधिकारी श्याम सुन्दर बिश्नोई ने बताया किया विगत चार दिनांे से पंचायत समिति सदस्यों के नामंाकन का दौर जारी है और आवेदक अपने प्रस्तावकों एवं समर्थको के साथ अपना नाम निर्देशित करवाने हेतु बढ़-चढ़ कर अपनी सहभागिता निभा रहे है । 7 नवम्बर 2020 तक विभिन्न राजनैतिक दलों एवं निर्दलीय आवेदको के कुल 27 नामांकन पत्र आरओ कार्यालय में जमा करवाये जा चुके है। गौरतलब है कि चित्तौड़गढ़ पंचायत समिति के 21 वार्डो में सदस्यों हेतु चुनाव होना तय है। 


                आज रविवार का अवकाश होने से आरओ कार्यालय में सन्नाटा पसरा रहा मगर कल नामांकन का अंतिम दिन होने से निर्वाचन से संबंधित  कार्मिक तैयारियों में जुटे रहे।  दिनांक 7 नवम्बर 2020 तक 21 वार्डो में से सिर्फ 16 में ही नामांकन पत्र दाखिल हुये है। वार्ड संख्या 3,5,7,10 और 17 में अभी तक एक भी नामांकन पत्र प्राप्त नहीं हुआ है। इस स्थिति को देखते हुए कल नामांकन के अंतिम दिन निर्धारित समय तक शेष रहे सभी अभ्यर्थी अपना आवेदन पत्र जमा करवाने हेतु उपस्थित होंगे। 


             रविवार का अवकाश एवं नामांकन नहीं होने के बावजूद शेष आवेदकों ने नामांकन हेतु निर्धारित शुल्क जमा करवाने हेतु लेखा शाखा में आवागमन जारी रखा। 


टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

महिला से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में एक आरोपित गिरफ्तार

घर-घर में पूजी दियाड़ी, सहाड़ा के शक्तिपीठों पर विशेष पूजा अर्चना