टंकी में डूबने से 2 मासूम भाइयों की मौत

 


बीकानेर /  शनिवार सुबह आरकेपुरम कॉलोनी में 5 और 3 साल के दो मासूम सगे भाई  पानी की टंकी में डूब गए। बच्चों को बचाने के लिए मां भी टंकी में कूद गई। लेकिन वह अपने कलेजे के टुकड़ों को बचा नहीं सकी।  हादसे के बाद कालोनी में मातम पसर हुआ है।

जानकारी के मुताबिक, आरकेपुरम में रहने वाली बेबी के पति काम के सिलसिले में पुणे गए हैं। ऐसे में बेबी रात को अपने दो बेटों रौनक (5) और देवकिशन (3) के साथ ननद के घर सोने के लिए आ जाती थी। ननद का घर उसके घर से करीब 300 मीटर दूर है। शनिवार सुबह वह ननद के घर के बाहर बैठी थी। दोनों बच्चे भी वहीं खेल रहे थे। टंकी का ढक्क्न खुला हुआ था। खेलने के दौरान दोनों बच्चे टंकी के पास आ गए। अचानक देवकिशन फिर रौनक टंकी में गिर गए।

पानी के टैंक का ढक्कन खुला था। इसी में डूबकर दोनों बच्चों की मौत हो गई।
बच्चों की मां भी पास में ही बैठी हुई थी। जैसे ही उसने दोनों बच्चो को टंकी में गिरते देखा तो तेज चिल्लाई और फिर खुद भी टंकी में कूद गई। टंकी का मुंह (ढक्कन) काफी छोटा था। जबकि टंकी करीब 10 फीट से ज्यादा गहरी थी। ऐसे में अपनी जान दांव पर लगाने के बावजूद मां अपने बच्चों को नहीं बचा सकी। लेकिन हल्ला करने पर एकत्र हुए लोगों ने मां को जैसे-तैसे बचाकर बाहर निकाला। फिर टंकी में घुसकर बच्चों को बाहर निकाला, लेकिन तब तक दोनों दम तोड़ चुके थे। घटना की जानकारी मिलने पर पालिका अध्यक्ष नारायण झंवर, नोखा सीओ नेम सिंह सहित कई पुलिस अधिकारी भी मौके पर पहुंचे। अब बच्चों का पोस्टमार्टम करवाया जा रहा है।

Popular posts from this blog

भीलवाड़ा नगर परिषद चुनाव : भाजपा ने 31, कांग्रेस ने 22 और निर्दलीय ने जीती 17 सीटें, बोर्ड के लिए जोड़ तोड़

सिपाहियों के कातिल जोधपुर और बाड़मेर के, एक फौजी भी शामिल !

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक