नशा नाश है समाज का और परिवार का - छाबड़ा


 शराबबंदी को लेकर घुमंतू जाति स्वाभिमान सम्मेलन का आयोजन 

गंगापुर (सुरेश शर्मा) शराबबंदी आंदोलन की राष्ट्रीय अध्यक्ष पूजा छाबड़ा ने कहा कि नशा नाश है परिवार व समाज का, नशे के कारण कई परिवार दर-दर की ठोकरें खा रहे हैं, नशे के कारण कई लोगों ने अपने परिवार को अकाल मौत का ग्रास बना दिया। नशे के कारण सैकड़ों परिवार उजड़ गए। नशे के चलते परिवार की हालत बिगड़ जा रही है। आज से कोई भी नशा नहीं करने का संकल्प लें, शराबबंदी आंदोलन की राष्ट्रीय अध्यक्ष पूजा छाबड़ा आज गंगापुर में आयोजित घुमंतू जाति स्वाभिमान सम्मेलन में को संबोधित कर रही थी। राष्ट्रीय अध्यक्ष छाबड़ा ने सम्मेलन में आए घुमंतू दलित परिवार के पुरुषों व महिलाओं को नशा नहीं करने की शपथ दिलाई। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए रणदीप त्रिवेदी ने कहा कि जिस तरीके से मेरे पिता स्वर्गीय कैलाश त्रिवेदी ने गरीब, पिछड़े, दलित, घुमंतू जाति के लोगों के लिए संघर्ष किया वहीं संघर्ष में आप सबके साथ मिलकर करूंगा। कार्यक्रम में घुमंतु अर्ध घुमंतु एवं विमुक्त जाति परिषद के प्रदेश अध्यक्ष रतन नाथ कालबेलिया ने लोगों की समस्याओं के बारे में मंच पर अवगत कराया, समाधान की मांग की। दलित घुमंतू अधिकार मंच के प्रदेश अध्यक्ष एडवोकेट पूनम नाथ सपेरा ने बागरिया जाति के लोगों को पुनः एससी में सम्मिलित करने की मांग रखी। सम्मेलन में प्रदेशाध्यक्ष बागरिया समाज गीता बागरिया, प्रदेश उपाध्यक्ष शंकर लाल बंजारा, शंकर लाल गाड़िया लोहार, खेमराज गाचा, रूपा राम भोपा, नूर मोहम्मद सिकलीगर, राम नाथ कालबेलिया, रणजीत बागरिया, जगदीश बागरिया, रामदेव नगाणी, भंवर बागरिया, रामदेव कालबेलिया सहित घुमंतू जाति के पदाधिकारी, कार्यकर्ता, सहाड़ा विधानसभा क्षेत्र के घुमंतू जाति के महिला व पुरुष उपस्थित थे।

 

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

महिला से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में एक आरोपित गिरफ्तार

घर-घर में पूजी दियाड़ी, सहाड़ा के शक्तिपीठों पर विशेष पूजा अर्चना