सुबह खाली पेट इस तरह खाएं मखाने, इन्फर्टिलिटी की परेशानी दूर होने के साथ कंट्रोल होगा वजन

 


नएजमाने की भागदौड़, बेतरतीब लाइफस्टाइल और गलत खानपान के चलते अधिकतर लोग इन्फर्टिलिटी की समसया से जूझते हैं। इसके चलते शारीरिक कमजोरी स्पर्म काउंट में कमी और कंसीव करने में दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। खासकर इन्फर्टिलिटी के चलते कई दंपति मां बाप बनने के सपने को पूरा करने में परेशानी से दो चार होते हैं। ऐसे में जरूरी है कि जो लोग फर्टिलिटी ट्रीटमेंट ले रहे हैं वो साथ ही साथ ऐसी पौष्टिक चीजों का सेवन करें जिससे फर्टिलिटी बढ़े और कंसीव होने के चांस बढ़ें। ऐसी ही पौष्टिक चीजों की लिस्ट में मखाने का नाम सबसे ऊपर आता है। 


मखाना ड्राई फ्रूट होने के साथ साथ शारीरिक कमजोरी दूर करने का सबसे अच्छा उपाय है। ये केवल सेहत को नहीं सुधारता, इसे डाइट में शामिल किया जाए तो ये गर्भधारण की समस्या से जूझ रहे लोगों की मदद करता है।

IFrame


कई पौष्टिक तत्वों से भरपूर होने के कारण ये डाइबिटीज के मरीजों के लिए भी फायदेमंद है, इसके लगातार सेवन से शुगर कंट्रोल होता है।

मखाना चूंकि एंटी ऑक्सिडेंट से भरपूर होता है इसलिए अगर आप रोज सुबह खाली पेट चार पांच मखा खा लेंगे तो आपके चेहरे पर उम्र के निशान कम होते जाएंगे और स्किन जवां होगी। 

मखाना किडनी के लिए बहुत ही अच्छा होता है। इसमें कैलोरी नाममात्र की होती है औऱ कैल्शियम भरपूर होता है। इसलिए इस हड्डियों की मजबूती के लिए भी अच्छा डाइट माना जाता है। 


क्या क्या है मखाने में

एक कप मखाने में 5 ग्राम प्रोटीन, 20 ग्राम कार्बोहाइड्रेट, 33 माइक्रोग्राम फोलिक एसिड, 1.2 मिलीग्राम आयरन, कैल्शियम 52 मिलीग्राम, पोटैशियम 430 मिलीग्राम, फास्‍फोरस 198 मिलीग्राम, ओमेगा-3 फैटी एसिड 32 मिलीग्राम और 340 मिलीग्राम ओमेगा-6 फैटी एसिड होते हैं। इसे डाइट में शामिल करने के कम कैलोरी के साथ साथ भरपूर फाइबर मिलेगा।

मखाने का सेवन कैसे करना चाहिए

मखाना बहुत ही पौष्टिक तत्वों से भरा हुआ ड्राई फ्रूट है। आप इसे खीर के रूप में खा सकते हैं। इसे देसी घी में भूनकर नमक और काली मिर्च मिलाकर नमकीन की तरह खा सकते हैं और अगर आपको दूध पसंद है तो आप इसे दूध में उबाल कर भी पी सकते हैं। 

Popular posts from this blog

भीलवाड़ा नगर परिषद चुनाव : भाजपा ने 31, कांग्रेस ने 22 और निर्दलीय ने जीती 17 सीटें, बोर्ड के लिए जोड़ तोड़

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक

सिपाहियों के कातिल जोधपुर और बाड़मेर के, एक फौजी भी शामिल !