स्वच्‍छता के नारे को कलंकित कर रहे है नगर परिषद के कर्मचारी, द्वारिका कॉलोनी के लोग जी रहे है दुर्गंध के साये में

 

भीलवाड़ा (हलचल)। स्वच्‍छता का दावा करने वाली नगर परिषद के अपने ही कर्मचारी गंदगी फैलाने में लगे है जिससे लोगों का जीना हराम हो रहा है। इस बात की शिकायत राज्‍य सरकार के पोर्टल पर किये जाने के बावजूद कोई ठोस कार्रवाई नहीं हो पाई है जिसके चलते लोगों को आने जाने में तो दिक्कतें हो ही रही है बल्कि बदबू का सामना भी करना पड़ रहा है। 
पांसल रोड स्थित द्वारिका कॉलोनी का यह हाल है। नगर परिषद द्वारा स्च्‍'छता के नारे दिए जा रहे है और लोगों को पाठ पढाया जा रहा है लेकिन नगर परिषद के कर्मचारी ही इन नारों की धज्‍जि‍यां उड़ाते नजर आ रहे है। द्वारिका कॉलोनी और भोपाल माइनिंग के बीच सीसी सड़क बनी हुई है लेकिन नगर परिषद के कर्मचारियों द्वारा इस सड़क को कचरा घर बना दिया है जहां से पूरी तरह से कचरा नहीं उठाया जाता है और वहां मलबे के ढेर जमा हो गए है। बरसात के कारण इस सड़क से निकलना दुर्भर हो गया है। इस सड़क के ठीक सामने रहने वाले टेलर जाति के व्यक्ति ने नगर परिषद में कई बार शिकायतें की है लेकिन कोई सुनने वाला है। उसने अब इस संबंध में राज्‍य सरकार के पोर्टल पर शिकायत नं. एसएमपीआरके 2021 8037 1620 नम्बर से शिकायत दर्ज करवाई है। इसका कहना है कि सड़क को कचरा घर बना देने और ऊपर से बरसात के कारण आस पास के क्षेत्र में बदबू फैल रही है। यही नहीं क्षेत्र में मरने वाले मवेशियों को भी यहीं लाकर डाल दिया जाता है। जिससे सड़क पर निकलना दुर्भर हो गया है। पास ही एक दुकानदार राजू ने बताया कि दुकन में बैठना भी दुर्भर हो रहा है। गंदगी से उठने वाली दुर्गंध दिन भर परेशान करती है। मलबे के कारण सड़क पर गंदा पानी जमा है। 
इसी तरह द्वारिका कॉलोनी के रहने वाले लोगों ने भी नगर परिषद से इस सड़क को गंदगी विहीन करने की मांग की है ताकि वहां रहने वाले लोगों को राहत मिल सके।

Popular posts from this blog

भीलवाड़ा नगर परिषद चुनाव : भाजपा ने 31, कांग्रेस ने 22 और निर्दलीय ने जीती 17 सीटें, बोर्ड के लिए जोड़ तोड़

सिपाहियों के कातिल जोधपुर और बाड़मेर के, एक फौजी भी शामिल !

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक