तलवार गैंग ने डाली एक और डकैती, सोये बुजुर्ग पर लाठियों से किया हमला, गर्दन पर रखी तलवार, लूटी नकदी व गहने

 


  भीलवाडा प्रेमकुमार गढ़वाल। शहर व आस-पास के इलाके में आतंक का पर्याय बनी तलवार गैंग ने अब ग्रामीण इलाके में दस्तक देते हुये होड़ा-खाचरोल मार्ग स्थित एक खेत पर डकैती डाली हैं। यहां खेत पर बने मकान में सोये बुजुर्ग पर इन डकैतों ने न केवल लाठियां भांजी, बल्कि गर्दन पर तलवार रखकर नकदी व बुजुर्ग की पत्नी से सोने-चांदी के गहने लूट लिये। डकैती की इस वारदात से होडा व आस-पास के गांवों में दहशत फैली हुई है। उधर, इस गैंग के लगातार वारदात को अंजाम देने के बाद भी पुलिस ने अब तक डकैतों पर लगाम कसने के लिए कोई रणनीति नहीं बनाई है, जिससे आमजन की सुरक्षा अब भगवान भरोसे है। 
सूत्रों के अनुसार, खाचरोल निवासी 60 वर्षीय छोगा पुत्र हीरा धाकड़ का खेत खाचरोल-होड़ा मार्ग के किनारे पर होड़ा के नजदीक है। छोगा ने खेत पर ही मकान बना रखा है, जहां वह अपनी पत्नी भोली बाई के साथ रहकर खेती करता है।  सूत्रों का कहना है कि धाकड़ के कोई संतान नहीं है। ऐसे में यह दंपती अकेला ही खेत पर रहता है। बुधवार रात धाकड़ दंपती खाना खाने के बाद कमरे के बाहर बने छपरे में सो गया। 
रात एक बजे रोड़ किनारे लगी फाटक खोलकर बदमाश खेत पर बने मकान पर पहुंचे। इनकी संख्या सात से आठ थी। इन बदमाशों ने आते ही सोये हुये छोगा पर लाठियां भांजी। इससे छोगा की नींद खुल गई। वह उठकर पलंग पर बैठ गया। उसके साथ सात से आठ बदमाश खड़े मिले। दो के पास तलवार थी, जबकि अन्य बदमाश लाठियों व सरियों से लैस थे। इन बदमाशों ने छोगा के गर्दन पर तलवार रखकर उसे धमकाया और नकदी व गहनों के बारे में पूछा। डरा-धमकाकर बदमाशों ने उससे कमरे की चॉबी ले ली। इसके बाद दो बदमाश तलवार लिये उसके पास खड़े थे, जबकि शेष बदमाशों ने कमरे की तलाशी ली। इस दौरान इन बदमाशों के हाथ घर में रखे 8 हजार रुपये लग गये। ये राशि बदमाशों ने कब्जे में ले ली। इसके बाद धाकड़ की पत्नी भोली बाई को भय दिखाकर उसके पहने हुये सोने के टोप्स, चांदी की कडिय़ां व कड़े खुलवा कर लूट लिये। वारदात को अंजाम देने के बाद सभी बदमाश भाग छूटे। 
छोगा ने लूट की सूचना मांडलगढ़ पुलिस को दी। इसके बाद पुलिस मौके पर पहुंची और वारदात की जानकारी लेते हुये डकैतों की तलाश की, लेकिन उनका कहीं पता नहीं चल पाया। छोगा ने पुलिस को बताया कि डकैतों में एक करीब 45-50 साल का था, जबकि शेष 20 से 25 साल के थे। 

सोते हुये छोगा को मारे चार-पांच लट्ठ
छोगा व उसकी पत्नी कमरे के बाहर बने छप्पर में सोये थे। रात एक बजे करीब आठ बदमाश घर में घुसे। इन बदमाशों ने छोगा पर चार से पांच ल_ बरसाये। इससे उसका दाहिना हाथ फ्रैक्चर और लहूलुहान हो गया। खून से बिस्तर और दीवारें लाल हो गई। 

भोली से बोले बदमाश, गहने दे दे नहीं तो काट देंगे पैर
पति छोगा पर हमला करने के बाद बदमाशों ने उसकी पत्नी भोली को घेर लिया। तलवारों से भोली को भयभित किया। बदमाशों ने भोली को पैर काटने की धमकी दी। इससे वह डर गई। भोली को नीचे बैठा दिया। इसके बाद बदमाशों ने उसे घेरे रखा और फर्श पर बैठकर भोली के पैरों से क डिय़ां, हाथों से कड़े और कानों से टोप्स निकाल लिये। 

गाड़ी से आये थे बदमाश, दूर खड़ी की थी
पुलिस सूत्रों का मानना है कि डकैत वारदात को अंजाम देने के लिए किसी वाहन से आये थे और वाहन को दूर एकांत में खड़ा कर दिया था। वारदात को अंजाम देने के बाद ये डकैत वाहन में सवार होकर भाग छूटे। 

इससे पहले गैंग ने इन वारदातों को दिया अंजाम
तलवार गैंग भीलवाड़ा में सक्रिय होकर बेखौफ हो चुकी है। इस गैंग ने सदर थाना इलाके में कोटड़ी रोड़ पर फार्म हाउस पर एक ही परिवार के पांच सदस्यों पर हमला कर नकदी व गहने लूट लिये। इसी तरह की वारदात कारोई के गाडरमाला इलाके में और रायला थाना सर्किल में एक खेत पर हो चुकी है। इतना ही नहीं सोमवार-मंगलवार की रात शहर में 100 फीट रोड पर एक मकान में इन डकैतों ने गृहस्वामी की गर्दन पर तलवार रखकर नकदी व गहने लूट लिये। दो सूने घरों को भी निशाना बनाया। इनमें से एक भी वारदात का अब तक खुलासा नहीं हो सका। 

Popular posts from this blog

भीलवाड़ा नगर परिषद चुनाव : भाजपा ने 31, कांग्रेस ने 22 और निर्दलीय ने जीती 17 सीटें, बोर्ड के लिए जोड़ तोड़

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक

सिपाहियों के कातिल जोधपुर और बाड़मेर के, एक फौजी भी शामिल !