हाथी घोड़ा पालकी,जय कन्हैयालाल की

 



भीलवाड़ा शहर के तिलकनगर सेक्टर 11 में स्थित ऋणमुक्तेश्वर धाम मंदिर प्रांगण   में चल रही श्रीमद् भागवत कथा में सोमवार को भगवान श्रीकृष्ण का जन्मोत्सव धूमधाम से मनाया गया। कथा के दौरान जैसे भगवान का जन्म हुआ तो पूरा पंडाल नंद के आनंद भयो जय कन्हैया लाल की के जयकारों से गूंज उठा। इस दौरान लोग झूमने-नाचने लगे। भगवान श्रीकृष्ण की वेश में नन्हें बालक के दर्शन करने के लिए लोग लालायित नजर आ रहे थे।दीपक शर्मा ने बताया कि  भगवान के जन्म की खुशी पर माखन मिश्री का भोग एवं सजावट की व्यवस्था रामगोपाल  लोकेश भट्ट द्वारा की गई। इस अवसर पर आचार्य पंडित शक्ति देव महाराज वृन्दावन वालो ने कहा कि जब धरती पर चारों ओर त्राहि-त्राहि मच गई, चारों ओर अत्याचार, अनाचार का साम्राज्य फैल गया तब भगवान श्रीकृष्ण ने देवकी के आठवें गर्भ के रूप में जन्म लेकर कंस का संहार किया। इस अवसर पर उन्होंने भगवान श्रीकृष्ण की विभिन्न बाल लीलाओं का वर्णन किया। कथा के दौरान बड़ी संख्या में श्रद्धालु मौजूद थे।बंशी लाल डिडवानिया,सत्यनारायण सुल्तानिया,पुष्कर दत्त,राजीव भंडिया, प्रेम व्यास,जमनालाल,विनोद शर्मा,अर्जुन पराशर डॉ रेखा शर्मा,अंजना शर्मा,मधु भट्ट,सीमा अनेक भक्त गण उपस्थित थे। कथा पश्चात प्रसाद वितरण किया गया।

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

मुंडन संस्कार से पहले आई मौत- बेकाबू बोलेरो की टक्कर से पिता-पुत्र की मौत, पत्नी घायल, भादू में शोक

जहाजपुर थाना प्रभारी के पिता ने 2 लाख रुपये लेकर कहा, आप निश्चित होकर ट्रैक्टर चलाओ, मेरा बेटा आपको परेशान नहीं करेगा, शिकायत पर पिता-पुत्र के खिलाफ एसीबी में केस दर्ज

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार