छह माह में टूट रही सड़कें, कार्यों के भुगतान पेंडिग पर राजस्व मंत्री नाराज

 

भीलवाड़ा। डीएमएफटी की बैठक के दौरान आज राजस्व मंत्री रामलाल जाट ने भीलवाड़ा जिले में बनी सड़कों के 6 माह में ही टूट जाने पर सवाल खड़ा किया तो एक बार तो सभी सकते में आ गये। जाट ने कहा कि इस तरह की सड़कों के मामले की जांच होनी चाहिए। इस पर जिला कलेक्टर आशीष मोदी ने तत्काल ही टूटी सड़कों के मामले की जांच के आदेश दिए है। साथ ही अब बनने वाली सड़कों पर निर्माण की तारीख, एजेंसी का नाम, नम्बर आदि की जानकारी बोर्ड लगाकर चस्पा की जाएगी। 
राजस्व मंत्री रामलाल जाट ने डिस्ट्रि€ट मिनरल फाउंडेशन ट्रस्ट (डीएमएफटी) से बनी सड़कों की गुणवत्‍ता पर सवाल उठाए। निर्माण कार्यों के भुगतान चार से सात साल में भी नहीं होने पर नाराजगी जताई। उन्होंने अफसरों को फटकारा। वहीं सांसद सुभाष चंद्र बहेडिय़ा ने भी मीटिंग का एजेंडा पहले नहीं मिलने पर नाराजगी जताई। जिले में विकास के मुद्दे पर कले€क्‍ट्रेट सभागार में डीएमएफटी गवर्निंग काउंसिल की बैठक आज कले€क्‍टर आशीष मोदी की अध्यक्षता में हुई। निर्धारित समय 11 बजे से पौन घंटे देरी से शुरू हुई मीटिंग में राजस्व मंत्री जाट ने कहा- डीएमएफटी से जिले में बनी सड़कें छह-सात माह में ही टूट रही है। अभी गारंटी पीरियड पांच साल है। ऐसे में जेईएन की ज्मिेदारी तय हो, ताकि वे भुगतान से पहले सोचें। जाट ने कहा कि जिले में सड़क, स्कूल सहित विभिन्न निर्माण कार्यों के भुगतान भी लंबे समय से बकाया चल रहे हैं। ठेकेदारों को पेमेंट नहीं हो रहा। उन्होंने विकास कार्यों में लापरवाही बरतने वाले अधिकारियों को फटकार भी लगाई। तब बैठक में बताया गया कि जिले में अब तक डीएमएफ़टी के 2652 कार्यों में से 1851 काम पूर्ण हो चुके हैं। 1950 कार्यों में 359.59 करोड़ का भुगतान किया जा चुका। 

जाट का सख्त रुख देखते हुए कले€क्‍टर मोदी ने समग्र शिक्षा अभियान, जलदाय एवं सार्वजनिक निर्माण विभाग के अधिकारियों से निर्माण कार्यों के भुगतान की स्टेटस रिपोर्ट मांगी। राज्य बीज निगम अध्यक्ष धीरज गुर्जर, आसींद विधायक जŽब्‍बर सिंह सांखला, जहाजपुर विधायक गोपीचंद मीणा, सहाड़ा विधायक गायत्री देवी त्रिवेदी आदि ने भी बैठक में सुझाव दिए। पूर्व विधायक विवेक धाकड़, पूर्व कांग्रेस जिलाध्यक्ष अनिल डांगी, चेतन डीडवानियां, जिला कले€क्‍टर आशीष मोदी, आईएएस प्रशिक्षु गौरव बुढानिया, जिला परिषद सीईओ डॉ.शिल्पा सिंह सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।
भीलवाड़ा विधायक वि_लशंकर अवस्थी ने कहा कि डीएमएफटी से जब हम सरकारी स्कूलों में कार्य करवा रहे हैं तो सरकारी कॉलेज में €यों नहीं करवाते? कॉलेजों की हालत खराब है। वहां भी काम कराओ। तब कले€क्‍टर मोदी ने आश्वासन दिया कि कॉलेजों से भी कार्यों के प्रस्ताव मंगवा लिए जाएंगे। यदि जरूरत होगी तो काम करवाए जाएंगे। अवस्थी ने लॉ कॉलेज की 24 बीघा जमीन पर अतिक्रमण का मुद्दा उठाते हुए कहा कि वहां भी डीएमएफटी से चारदीवारी बनाई जाए।
मीटिंग में डीएमएफटी से जिले के 87 स्कूलों में 4 करोड़ रुपए की लागत से  इंटरेक्टिव €क्‍लास रूम की स्थापना के लिए संसाधन उपलब्‍Žध करवाए जाने का प्रस्ताव आया। इसमें विज्ञान संकाय के 76 एवं 11 मॉडल स्कूल हैं। इंटरेक्टिव €क्‍लास रूम बनने से फायदा यह होगा कि फैकल्टी कहीं भी बैठकर एकसाथ एक
से अधिक €लास ले सकेगी। इस पर मांडलगढ़ विधायक गोपाल खडेलवाल ने आपत्ति जताते हुए कहा कि हमारे शिक्षक इतने सक्षम हैं €या? कि वे €लासरूम चला लेंगे। उन्होंने सुझाव दिया कि पहले आप उन्हें सिखाओ, फिर संभव हो तो  इंटरेक्टिव €क्‍लासरूम बनाओ।

सांसद सुभाष चंद्र बहेडिय़ा ने मीटिंग का एजेंडा समय पर नहीं देने पर नाराजगी जताई। उन्होंने कहा- बैठक से कम से कम 5 दिन पहले एजेंडा की कॉपी दी जानी चाहिए। सांसद ने पूछा- डीएमएफटी से स्वीकृति के लिए कार्यों के जो प्रस्ताव उन्होंनेे भेजे उनका €या स्टेटस है? इसकी सूचना समय पर नहीं मिल पा रही है। डीएमएफटी बैठक के प्रस्ताव और कामकाज की जानकारी तो मिले।

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

महिला से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में एक आरोपित गिरफ्तार

घर-घर में पूजी दियाड़ी, सहाड़ा के शक्तिपीठों पर विशेष पूजा अर्चना