पत्नी ने पीहरवालों के साथ मिलकर पति के घर से चुराई नकदी व गहने, एफआईआर दर्ज

 


 भीलवाड़ा हलचल। एक महिला ने पीहर वालों के साथ मिलकर पति के घर से नकदी व गहने चुरा लिये। यह आरोप लगाते हुये आसींद निवासी व्यक्ति ने पत्नी, सास, ससुर, पत्नी की बहन और बहनौई को आरोपित बनाया है। 
आसींद पुलिस ने हलचल को बताया कि रिलायंस पेट्रोल पंप के सामने, आसींद निवासी तरुण कुमार हिंडोनिया ने अपनी पत्नी माया पुत्री सोहनलाल रैगर निवासी सौलंकी दरवाजा देवगढ़, ससुर सोहन लाल रैगर, सास सायरी, भगवती पुत्री सोहन और भगवती के पति अनिल जैलिया निवासी लसानी, देवगढ़ को आरोपित बनाया है। 
तरुण ने रिपोर्ट में बताया कि उसकी दादी का स्वर्गवास 29 नवंबर 2021 को हो गई थी। उसकी दादी के बाहरवें के काम में उसकी पत्नी माया आसींद आई थी।  11 दिसंबर 2021 को परिवादी व परिवार के सभी सदस्यदादी की अस्थियां विसर्जन करने मातृकुडिया गये थे ।  घर पर परिवादी की पत्नी माया अकेली थी। परिवार के सदस्य उसी दिन शाम को वापस आसींद आ गये।  12 दिसंबर 2021 को सुबह परिवादी की पत्नी अपने पीहर चली गई।  परिवादी की दादी के क्रिया क्रम में जो खर्चा लगा था, बाजार में हिसाब करना था तो पिता हिसाब करने जाने से पहले उससे कहा कि आलमारी में रखे 2 लाख रुपये ले आओ । परिवादी रुपये लेने गया, आलमारी चेक की तो उसमें रखे 2 लाख रुपये व गहने, सोने की चेन, परिवादी की मां की सोने की चूडिय़ां, गायब मिली।  घर में  मेहमान अभी गये नही थे । घर में चोरी होने की खबर होने व हल्ला होने से   मेहमान नाराज हो जाते तो पिता ने परिवादी से कहा कि कोई बात नही अभी शान्त रहो  बाद में देखेंगे ।  मेहमानों के जाने के बाद परिवार वालो ने हमारे दुकानो के किरायेदारों को घटना के बारे बताया था । इसके बाद गुप्त जानकारी मिली कि  घर से रुपये और गहनो की चोरी परिवादी की पत्नी माया ने अपने परिवार के सदस्यों में उसके पिता सोहलाल रेगर, उसकी मां, बहन  व बहनोई के साथ मिलकर चोरी कर उसकी बहिन भगवती व बहनोई अनिल जैलिया को आसीन्द बुलाकर सुपुर्द कर दिये । माया दूसरे दिन अपने पीहर देवगढ़ भी चली गई थी । 
परिवादी का आरोप है कि उसकी दादी के कार्यक्रम आई परिवादी की बहन रेखा को देवगढ़ छोडऩे उसका भाई गया था। उसके साथ कार में बैठकर परिवादी की पत्नी माया भी देवगढ़ चली गई थी। चोरी को लेकर दूकान के किरायेदारो को पूछा तो बताया कि परिवार के सभी लोग मातृकुडिया  गये थे । उस दिन माया भाभी के पीहर देवगढ से एक औरत व एक आदमी आये थे,जो लगभग दो घन्टे घर में रुक कर चले गये थे । जाते समय उनसे पूछा तो उन्होंने बताया कि हम माया के रिश्तेदार है। एक औरत ने अपना नामा भगवती होकर माया की बडी बहन होना बताया। दूसरे आदमी को भगवती ने अपना पति अनिल जैलिया  बताया था । घर से कुछ दूरी पर रोड पर एक कार खडी थी,जिसमे एक आदमी और ड्राईवर बैठा था । कार के बाहर एक औरत और खडी थी, जब माया की बहिन व बहनोई कार के पास चले गये, तब दोनों  हाथ में थैला लिये हुये थे । कार में बैठकर सभी चले गये थे । परिवादी का आरोप है कि इन आरोपितों ने षडयंत्र रच कर परिवादी के घर से नगद व रुपये व जेवरात चोरी कराये है ।  पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरु कर दी।  

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

महिला से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में एक आरोपित गिरफ्तार

घर-घर में पूजी दियाड़ी, सहाड़ा के शक्तिपीठों पर विशेष पूजा अर्चना