पुलिस पर फायरिंग कर कैदी को छुड़ा ले गए गुंडे, 1 बदमाश ढेर, 1 पकड़ाया, बाकि फरार

 

नई दि‍ल्‍ली । राजधानी में बढ़ते अपराध को रोकने में नाकाम दिल्ली पुलिस को एक बार फिर बदमाशों ने खुलेआम चुनौती दे डाली. बदमाशों ने दिल्ली के जीटीबी अस्पताल के ठीक बाहर कई राउंड फायरिंग की और एक कुख्यात अपराधी को पुलिस के कब्जे से छुड़ाकर फरार हो गए. इस घटना से पुलिस विभाग में हड़कंप मचा हुआ है. अभी तक बदमाशों की कोई जानकारी नहीं मिल पाई है.

जानकारी के मुताबिक जिस कैदी को पुलिस हिरासत से छुड़ाया गया, वो कोई मामूली बदमाश नहीं है. उस कैदी का नाम कुलदीप बताया जा रहा है. जिसे दिल्ली पुलिस की थर्ड बटालियन की टीम जेल से जीटीबी अस्पताल लेकर आई थी. वहां उसका मेडिकल होना था. तभी वहां एक स्कोर्पियो कार और बाइक पर सवार होकर आधा दर्जन के करीब बदमाश पहुंचे और अस्पताल परिसर के अंदर 12:30 बजे के आस-पास उन लोगों ने फायरिंग शुरु कर दी. इससे पहले पुलिसकर्मी कुछ समझ पाते ठीक उसी वक्त बदमाशों ने कैदी कुलदीप को छुड़ाने के लिए पुलिस पार्टी पर फायरिंग कर दी, और गोलीबारी का फायदा उठाकर शातिर बदमाश कुलदीप वहां से लेकर भाग निकले।

जबकि पुलिस की जवाबी फायरिंग में कैदी को छुड़ाने आए बदमाशों में एक पुलिस की गोली का शिकार हुआ, मौके पर ही उसकी मौत हो गई. कुलदीप, कुख्यात बदमाश जितेंद्र गोगी गैंग का सदस्य है. उस पर हत्या जैसे 70 से अधिक केस दर्ज हैं. पुलिस फायरिंग में मारे गए बदमाश की पहचान अभी तक नहीं हुई है.
कस्टडी से फरार हुआ शातिर बदमाश कुलदीप कुख्यात है. वो दिल्ली और हरियाणा से वांटेड था. उसे कुलदीप उर्फ फज्ज़ा के नाम से भी जाना जाता है. दिल्ली पुलिस ने उस पर 2 लाख का इनाम रखा था. 2020 में दिल्ली पुलिस ने उसे गिरफ्तार किया था. उसकी फरारी के बाद दिल्ली पुलिस की सभी टीम को अलर्ट किया गया है।

Popular posts from this blog

भीलवाड़ा नगर परिषद चुनाव : भाजपा ने 31, कांग्रेस ने 22 और निर्दलीय ने जीती 17 सीटें, बोर्ड के लिए जोड़ तोड़

सिपाहियों के कातिल जोधपुर और बाड़मेर के, एक फौजी भी शामिल !

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक