Sunday, March 28, 2021

राजस्थान दिवस: सजा काट रहे 1200 बंदियों को मिलेगी आजादी


जयपुर। राजस्थान की जेलों में लंबे समय से सजा काट रहे 1200 कैदियों को 30 मार्च को राजस्थान दिवस के मौके पर रिहा किया जाएगा। इस साल सरकार ने 1200 कैदियों को समय से पहले रिहा करने का निर्णय लिया है। ये वे कैदी होंगे जो सदाचारपूर्वक अपनी सजा काट रहे हैं या गंभीर बीमारियों से ग्रसित हैं। बुजुर्ग कैदियों को भी रिहा किया जाएगा। इस संबंध में जेल विभाग ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को प्रस्ताव भेजा, जिसे मंजूरी दी गई है।
सीएम ने कहा कि बुजुर्ग और गंभीर बीमारियों से ग्रसित कैदियों को रिहा किया जाएगा, जिससे वे कोरोना संक्रमण के खतरे से बचे रहें। बुजुर्ग पुरूष कैदी जिनकी उम्र 70 साल और 65 वर्ष की महिला कैदियों को रिहा किया जाएगा। वे कैदी जो अपनी सजा का एक तिहाई हिस्सा भुगत चुके हैं, उन्हें भी समय से पहले रिहाई मिलेगी। रिहा होने वालों में ऐसे कैदियों की संख्या सबसे अधिक है जो आजीवन कारावास से दंडित हैं और 14 साल से सजा भुगत रहे हैं। वे कैदी जो एड्स, कैंसर अथवा दृष्टिहीनता सहित अन्य गंभीर बीमारियों से ग्रसित हैं उन्हे रिहाई में प्राथमिकता दी जा रही है। जेल विभाग के निरीक्षक राजीव दासोत ने बताया कि ऐसे कैदियों को स्थाई पैरोल पर होने की स्थिति में ही रिहा किया जा सकेगा।

भीलवाड़ा में कोरोना का महाब्लास्ट, 407 नये पॉजिटिव, मांडल, बापूनगर, मांडलगढ़ बने हॉट स्पॉट

   भीलवाड़ा हलचल। भीलवाड़ा में कोरोना का शनिवार को महाब्लास्ट हुआ है। कोरोना ने पुराने सभी रेकार्ड तोडते हुये अपना रौद्र रुप दिखाया है। शनिव...