Tuesday, March 2, 2021

बड़ा सड़क हादसा, ट्राला पलटने से दबे 22 मजदूर, 6 की मौत

 

 कानपुर देहात: उत्तर प्रदेश के कानपुर जिले में एक बड़ा सड़क हादसा हो गया। जहां हाईवे पर एक तेज रफ्तार ट्राला अनियंत्रित होकर पलट गया। जिससे उसमें सवार 22 लोग उसके नीचे दब गए। कड़ी मशक्कत के बाद 16 मजदूरों को बाहर निकाला गया। जिनमें 8 लोगों को गंभीर चोट लगी है और 2 की हालत गंभीर बनी हुई है। वहीं इस हादसे में 6 लोगों की मौके पर ही दर्दनाक मौत हो गई। पुलिस अधीक्षक केशव कुमार चौधरी ने बताया कि ट्राला सवार घायल शिवलाल ने बताया कि सभी लोग हमीरपुर जिले के रहने वाले हैं और देर रात हमीरपुर के कलौली तीर गांव व घाटमपुर के बरनाव से एक ठेकेदार मजदूरों के साथ सिरसागंज फीरोजाबाद जाने के लिए निकले थे और टेम्पो और ट्रक से वह भोगनीपुर तक आए। इसके बाद यहां कोयला लदे एक ट्राला को उन्होंने रुकवाया जो कि इटावा तक जा रहा था। कुछ मजदूर आगे व कुछ पीछे कोयले लदे ट्राले पर बैठकर जा रहे थे और उसकी दौरान चालक गलत ढंग से चला रहा था जिसको लेकर कई बार मजदूरों ने टोका पर उसने एक नहीं मानी और ट्राला भोगनीपुर के मउखास गांव के पास अचानक अनियंत्रित होकर पलट गया, जिससे 6 मजदूरों की मौत हो गई और 15 घायल हो गए। उन्होंने बताया कि हादसे के बाद क्षेत्रीय लोगों की मदद से पुलिस ने ट्राला में फंसे घायल मजदूरों को बाहर निकाला और सभी घायलों को बाहर निकाल कर प्राथमिक उपचार के लिए पुखराया के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भेजा गया है। बाद उन्हें कानपुर देहात के माती जिला अस्पताल में रेफर किया गया। घायलों में कई की हालत गंभीर है। घटना की जानकारी होते ही मौके पर चौधरी पुलिस अधीक्षक केशव कुमार पहुंच गए। उन्होंने बताया कि मृतकों में घाटमपुर की चन्दावती (14),रमेश, पिंकी और वही हमीरपुर की राधा,उसकी पुत्री 8 वर्षीय कोमल व 4 वर्षीय सूरज शामिल है। चौधरी ने बताया कि घायलों को उपचार के लिए जिला मुख्यालय भेजा दिया गया है। शव पोस्टमाटर्म के लिए भेज दिए गए हैं। हादसे के बाद चालक फरार हो गया, जिसकी तलाश की जा रही है।

गजब है... नकली रेमडेसिविर लेने से ठीक हो गए 90 फीसदी कोरोना मरीज, पुलिस भी हैरान

  भोपाल ।कोरोना की दूसरी लहर में रेमडेसिविर इंजेक्शन की मांग में एका-एक बढ़ोतरी हो गई है। हालांकि, इस बीच कई राज्यों में नकली रेमडेसिविर बेच...