Monday, March 1, 2021

मधुमक्खियों के हमले में 40 घायल, छह की हालत गंभी

 


राजस्थान के जोधपुर में नरेगा का कार्य करते हुए श्रमिकों पर मधुमक्खियों के हमले से 40 लोग घायल हो गए हैं, जिसमें की छह की स्थिति गंभीर है। मधुमखियों के हमले में गंभीर घायल छह लोगों को जोधपुर रेफर किया गया है। जोधपुर के मथुरादास माथुर अस्पताल में घायल नरेगा कर्मियों का इलाज जारी है। घटना जोधपुर के बिलाडा क्षेत्र से लगते बोरुंदा कस्बे की है, जहां नरेगा के तहत पेड़ कटाई का कार्य चल रहा था। कार्य के दौरान मधुमक्खी का एक छत्ता गिर गया। इस दौरान एक बार मौके पर भगदड़ सी मच गई, जिसके बाद लोगों ने इधर उधर भाग कर अपनी जान बचाई। बोरूंदा कस्बा क्षेत्र में रविवार को मनरेगा कार्य चल रहा है।

नरेगा से जुड़े कार्यों के तहत पेड़ों की छंगाई और कटाई का कार्य किया जा रहा था, तभी मधुमक्खियों के हमला कर दिया। मधुमक्खियों के हुए अचानक हमले से नरेगा का कार्य कर रहे मजदूरों में भगदड़ मच गई। मुधुमक्खियो के काटने से काम करने वाले तकरीबन चालीस श्रमिक घायल हो गए। घायल हुए लोगो में महिला व पुरुष दोनों हैं। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार, पेड़ पर कटाई के दौरान मौजूद सत्ता वजन होने के कारण गिर गया, जिस पर बैठी मधुमक्खियां उड़ गई हैं और भगदड़ मच गई। वहीं, छत्ता पेड़ से अलग होकर एक महिला पर गिरने की सूचना है। जिसके बाद महिला को बड़ी संख्या में मधुमक्खियों ने डंक मारा। गंभीर अवस्था मे घायल हुई महिला को स्थानीय उपचार के बाद जोधपुर भेजा गया है, जहां उसका इलाज जारी है। महिला की स्थिति गंभीर लेकिन स्थिर बनी हुई है।

मधुमक्खियों के हमले की इत्तला मिलने पर ग्रामीण नरेगा कार्य स्थल के समीप पहुचे और, निजी वाहनों से घायलों को लेकर अस्पताल पहुचें। इस दौरान 40 लोगों के घायल होने की समाचार है, जिसमें से 15 से अधिक महिलाएं हैं। वहीं, छह नरेगा श्रमिकों को जोधपुर रेफर किया गया है। जिनका की जोधपुर के मथुरादास माथुर अस्पताल में इलाज जारी है। भगदड़ के कारण गिरने और आपस में टकराने से भी कुछ लोगों के चोटें आई है।

भीलवाड़ा में कोरोना का महाब्लास्ट, 407 नये पॉजिटिव, मांडल, बापूनगर, मांडलगढ़ बने हॉट स्पॉट

   भीलवाड़ा हलचल। भीलवाड़ा में कोरोना का शनिवार को महाब्लास्ट हुआ है। कोरोना ने पुराने सभी रेकार्ड तोडते हुये अपना रौद्र रुप दिखाया है। शनिव...