Wednesday, March 10, 2021

गुंजने लगे है होली के गीत, होली खेला रे कानुड़ा...

 

 

सवाईपुर ( सांवर वैष्णव ) होली का त्यौहार मन मे खुशिया उमंग व रंगों का त्यौहार होता है । होली का त्यौहार समीप निकट आते ही  गावों में होली के गीत सुनाई देने लगे हैं । होली के रसिया चंग और डफ की थाप पर थिरकने लगते हैं | रुत आई रे पपीहा तेैरे बोलण की, लाग्यो लक्ष्मण के बाण, होली खेला रे कानूड़ा रुत फागुण की जैसे कई गीत चंग की थाप के साथ कड़ी-कड़ी मिलाकर लोक संस्कृति को साकार कर रहे हैं । सवाईपुर कस्बे के होली का त्यौहार नजदीक आते ही चंग की थाप सुनाई दे रही हैं ।

आरणी में बाबा साहेब को चढ़ाए श्रद्धा के फूल

राशमी (कैलाश चन्द्र सेरसिया)।  आरणी में बुधवार को डॉ. भीमराव अंबेडकर की जयंती के उपलक्ष्य में अंबेडकर बस स्टैंड पर कोविड गाइडलाइन की पालना क...