गुंजने लगे है होली के गीत, होली खेला रे कानुड़ा...

 

 

सवाईपुर ( सांवर वैष्णव ) होली का त्यौहार मन मे खुशिया उमंग व रंगों का त्यौहार होता है । होली का त्यौहार समीप निकट आते ही  गावों में होली के गीत सुनाई देने लगे हैं । होली के रसिया चंग और डफ की थाप पर थिरकने लगते हैं | रुत आई रे पपीहा तेैरे बोलण की, लाग्यो लक्ष्मण के बाण, होली खेला रे कानूड़ा रुत फागुण की जैसे कई गीत चंग की थाप के साथ कड़ी-कड़ी मिलाकर लोक संस्कृति को साकार कर रहे हैं । सवाईपुर कस्बे के होली का त्यौहार नजदीक आते ही चंग की थाप सुनाई दे रही हैं ।

Popular posts from this blog

भीलवाड़ा नगर परिषद चुनाव : भाजपा ने 31, कांग्रेस ने 22 और निर्दलीय ने जीती 17 सीटें, बोर्ड के लिए जोड़ तोड़

सिपाहियों के कातिल जोधपुर और बाड़मेर के, एक फौजी भी शामिल !

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक