बदलते मौसम में आंखों की बीमारियों से बचे रहने के लिए रखना होगा इनका खास ख्याल

 


हमारी आंख हमारी हेल्थ से जुड़े कई राज खोलती है। हम शरीर के अन्य अंगों की अपेक्षा आंखों का उपयोग ज्यादा करते हैं। लेकिन बदलते मौसम के साथ आंखों की बीमारियां भी अपने पैर फैलाने लगती हैं। ऐेसे में मौसम के बदलाव के साथ हमें अपनी आंखों का विशेष ध्यान देने की जरूरत है। आज हम आपको ऐसे ही कुछ आंख की बीमारी और उनसे बचने के लिए अपनाई जाने वाली सावधानियों के बारे में बताएंगे।

1. आंख आना

- आंख आ जाने पर आंख का सफेद भाग लाल हो जाता है।

- आंखों से पानी या कीचड़ का निकलना, दर्द या खुजली होना।

- इसके अलावा आंखों में कूड़ा जाने का बार-बार एहसास होना।

कारण

आंखों में धूप, ठंडी हवा, धुआं, तेज रोशनी के आंख पर पड़ने से आंख आ जाती है।

2. रोशनी कम होना

- आंखों की रोशनी का कम होना एक कॉमन बीमारी बन गई है।

- इस बीमारी में लोगों को दूर या पास की चीज़ें देखने में परेशानी होती है।

कारण

अनियमित लाइफस्टाइल, असंतुलित आहार और लंबे समय तक कंप्यूटर पर काम करने से बीमारी का सामना करना पड़ता है।

3. पानी का सूख जाना

- इस बीमारी में आंखों में बार-बार खुजली महसूस होती है।

- साथ ही चीज़ें भी धुंधली दिखाई देती है।

कारण

डेस्कटॉप और कंप्यूटर पर लंबे वक्त तक काम करने के दौरान पलकों के कम झपकने से धीरे-धीरे आंख का पानी सूखने लगता है।

4. सूजन आना

- आंख के ऊपर के हिस्से में सूजन आ जाती है।

- जिसमें कई बार बेहद दर्द भी होता है।

कारण

अक्सर आंखों पर चोट लगने या किसी जहरीले कीड़े के काटने से आंखों पर सूजन आ जाती है।

ये उपाय हो सकते हैं कारगर

1. आंखों को नियमित रूप से धोएं, सफाई करें।

2. ताजा आंवला का रस, नींबू का रस भी आंखों की रोशनी बढ़ाने में मदद करता है।

3. सीमित मात्रा में डेस्कटॉप और कंप्यूटर का इस्तेमालकरें।

4. आंखों पर चश्मा पहनकर ही कंप्यूटर पर काम करें।

5. आंखों को बार-बार झपकाना चाहिए।

6. एक दिन में 6 से 8 घंटे नींद जरूर लें, इससे आंखों को आराम मिलता है।

7. पढ़ाई करते समय कमरे में पर्याप्त रोशनी हो, इसका ध्यान रखें।

Popular posts from this blog

भीलवाड़ा नगर परिषद चुनाव : भाजपा ने 31, कांग्रेस ने 22 और निर्दलीय ने जीती 17 सीटें, बोर्ड के लिए जोड़ तोड़

सिपाहियों के कातिल जोधपुर और बाड़मेर के, एक फौजी भी शामिल !

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक