Monday, March 1, 2021

बदलते मौसम में गले की खराश से परेशान हैं तो गरारे करें, जानिए तरीका


लाइफस्टाइल डेस्क।  गर्मी के मौसम की शुरूआत हो रही है और बदलते मौसम में सबसे ज्यादा परेशानी गले में ही होती है। मौसम बदलते ही हमारे खान-पान में बदलाव आ रहा है, हम ठंडी चीजों का सेवन करने लगे है जिससे हमारे गले में लगातार खिच-खिच बनी हुई है। गले की वजह से बुखार सर्दी ज़ुकाम को भी झेलना पड़ता है। गले की खराश दूर करने का सबसे बड़ा इलाज है गर्म पानी से गरारे करना। नमक के पानी से गरारे करने का तरीका काफी असरदार और पुराना है। लेकिन आप जानते हैं कि गले की खराश दूर करने के लिए आप कई और असरदार चीजों का इस्तेमाल करके इस परेशानी से छुटकारा पा सकते हैं। आइए जानते हैं कि गरारा करने के लिए गर्म पानी में कौन-कौन सी देसी चीजों का इस्तेमाल कर सकते हैं, और यह किस तरह फायदेमंद है।

हल्दी और नमक का पानी

हल्दी नमक का पानी ना सिर्फ गले की खराश को दूर करता है बल्कि सेहत को भी बेहतर बनाता है। हल्दी में इंफ्लैमेटरी और एंटी-ऑक्सीडेंट गुण पाए जाते हैं, जो पेट साफ करते हैं। हल्दी नमक का पानी इस्तेमाल करके आप खांसी और गले की खराश को बॉय-बॉय बोल सकते हैं।

 

पुदीने का पानी:

पुदीने में पाया जाने वाला मेन्थॉल न सिर्फ गले को आराम पहुंचाता है, बल्कि बंद नाक को खोलने में भी मदद करता है। इसकी एंटीसेप्टिक प्रॉपर्टीज बैक्टीरिया को कम करती है। इस पानी को बनाने के लिए एक कप उबलते हुए पानी में दो से तीन पेपरमिंट टी बैग्स डालें या फिर पुदीने की पत्तियों का इस्तेमाल करें। अब इसे ठंडा होने दें और फिर इस गुनगुने पानी से गरारे करें।

अदरक का पानी:

अगर किसी व्यक्ति को गले में खराश के साथ−साथ सूजन भी है तो उसे अदरक के पानी से गरारे करने चाहिए। अदरक में मौजूद एंटी−इंफलेमेटरी गुण गले की सूजन को कम करने के साथ−साथ इंफेक्शन को दूर करके गले को आराम देते हैं। इसे बनाने के लिए पानी में अदरक उबालें और जब वह पानी गुनगुना रह जाए तो उससे गरारे करें।

नमक का पानी:

नमक के पानी से गरारे करने का तरीका बेहद पुराना है। नमक में पाए जाने वाले एंटीसेप्टिक और एंटी−बैक्टीरियल गुण गले की खराश को दूर करने के साथ−साथ गले को काफी आराम पहुंचाते है। इसके इस्तेमाल के लिए एक गिलास गुनगुने पानी में नमक मिलाएं और फिर उस पानी से गरारे करें।

सेब का सिरका और गर्म पानी

सेब का सिरका सिर्फ खाने में ही इस्तेमाल नहीं किया जाता बल्कि इसका इस्तेमाल गले की खराश को दूर करने के लिए भी किया जाता है। सेब के सिरके में एंटी−बैक्टीरियल गुण जाते हैं जो बैक्टीरिया को दूर करके गले को आराम पहुंचाते हैं। आधा गिलास गर्म पानी में एक चम्मच सेब का सिरका मिलाएं और दिन में दो बार गरारे करें। आपको काफी आराम महसूस होगा। 

 

भक्त ने चारभुजा नाथ के 1 किलो चांदी की थाली, कटोरी भेंट की

  भीलवाड़ा ! श्री माहेश्वरी समाज श्री चारभुजा जी मंदिर ट्रस्ट, भीलवाड़ा बड़ा मंदिर चारभुजा नाथ के भक्त ने आज 1 किलो चांदी की थाली एवं भोग लग...