Monday, March 8, 2021

महिला दिवस के मौके पर महिला पटवारियों ने रखा उपवास, कलेक्ट्रेट पर दिया धरना, उग्र आंदोलन की दी चेतावनी

 


 भीलवाड़ा हलचल। राजस्थान पटवार संघ ने अपनी तीन सूत्रीय मांगों को लेकर प्रदेश नेतृत्व के आह्वान पर आज अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के मौके पर भीलवाड़ा में महिला पटवारियों ने जहां एक दिन का अनशन रखा है वहीं कलेक्ट्रेट के सामने धरना दिया है। 
संघ के जिला महामंत्री युधिष्ठर सनाढ्य ने कहा कि पटवार संघ ने लगातार चौदह माह तक गांधीवादी तरीके से सरकार को मैसेज भेजा की पटवारी बहुत ज्यादा परेशान है। हमारा जो मूल वेतन है वो 20 हजार 800 के लगभग है जो बहुत ही कम है। इतने कम वेतन में जीवन निर्वहन करना भी टेढी खीर है। इस मांग को लेकर आज तक हमें कोई जवाब नहीं मिला। इसके बाद 2018 में जो समझौता हुआ, उसे लागू करने के लिए कहा गया, लेकिन उस पर भी सुनवाई नहीं हुई। सनाढ्य ने कहा कि इसके बाद 15 जनवरी से अतिरिक्त पटवार मंडलों के कार्य बहिष्कार करने का संघ ने निर्णय लिया। इसके डेढ़ माह बाद भी सरकार ने कोई संज्ञान नहीं लिया।
इसी के चलते संघ ने महिला दिवस के मौके पर महिला पटवारियों के एक दिन का उपवास और धरना देने का निर्णय लिया गया।इसी के तहत आज कलेक्ट्रेट के सामने महिला पटवारियों ने धरनास्थल पर उपवास रखा। सनाढ्य ने कहाकि सरकार अगर मांगे नहीं मानती है तो शीघ्र ही उग्र आंदोलन किया जायेगा। इसकी जिम्मेदारी सरकार की होगी।