किसानों, श्रमिकों की समस्याओं व महंगाई को लेकर सीटू ने राष्ट्रपति के नाम सौंपा ज्ञापन


भीलवाड़ा (हलचल)। केंद्रीय श्रम संगठनों के देशव्यापी आह्वान पर शुक्रवार को भारत बंद का समर्थन करते हुए भीलवाड़ा के श्रमिक संगठन सीटू की ओर से राष्ट्रपति के नाम जिला कलक्टर को ज्ञापन सौंपा गया।
सीटू के प्रांतीय प्रतिनिधि ओमप्रकाश देवानी ने बताया कि 44 श्रम कानूनों को समाप्त कर श्रम सुधारों के नाम पर लाए जा रहे 4 बिल किसानों व पूंजीपतियों को बंधुआ मजदूर बनाने के दस्तावेज हैं। इसका संगठन विरोध करता है। ज्ञापन में श्रम सुधारों के चारों बिल वापस लेने, किसानों के हितों के खिलाफ पारित कानून वापस लेने, बढ़ती बेरोजगारी व महंगाई पर रोक लगाने, लॉकडाउन के दौरान नौकरी से निकाले गए श्रमिकों को वापस लेने व लॉकडाउन अवधि का पूरा वेतन देने, 26 हजार रुपए न्यूनतम वेतन देने, ठेकेदारी प्रथा समाप्त कर समान काम के बदले समान वेतन व अन्य सुविधाएं देने व इस संबंंध में सुप्रीम कोर्ट का निर्णय लागू करने, ट्रेड यूनियनों का पंजीकरण 15 दिन में लागू करने सहित गैस व पेट्रोल डीजल के बढ़े दाम वापस लेने व महंगाई पर रोक लगाने की मांग की गई है। इस दौरान कई श्रमिक मौजूद थे।  

Popular posts from this blog

भीलवाड़ा नगर परिषद चुनाव : भाजपा ने 31, कांग्रेस ने 22 और निर्दलीय ने जीती 17 सीटें, बोर्ड के लिए जोड़ तोड़

सिपाहियों के कातिल जोधपुर और बाड़मेर के, एक फौजी भी शामिल !

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक