Saturday, March 6, 2021

पुलिस का नोटिस मिला तो सन्न रहे कैब चालक पिता-पुत्र, ठग ने खाता खुलवाकर जमा करवा दी रकम

 जयपुर। पश्चिम बंगाल पुलिस के मिले एक नोटिस ने कैब चालक पिता-पुत्र की धधकने बढ़ा दी। दरअसल जालसाजों ने दोनों के नाम से बैंक खाता खुलवाया और ठगी की लाखों की रकम खातों में डलवा दी। सिविल लाइंस स्थित भगवत वाटिका निवासी महेन्द्र गुप्ता और उनके पुत्र भावेश गर्ग के नाम से जयपुर के करीब आधा दर्जन बैंक शाखाओं में खाते खुलवाए गए। कई बैंक खातों में भावेश की मां के अलग-अलग नाम बताए गए हैं। पीडि़त महेन्द्र गुप्ता ने बताया कि वे खुद एक कैब कंपनी की कार चलाते हैं और उनका बेटा उसी कंपनी की बाइक चलाता है। उनकी उम्र 71 वर्ष है और बेटा 8वीं तक ही पढ़ा है। परिवार की आर्थिक स्थिति भी सही नहीं है। पश्चिम बंगाल पुलिस का नोटिस मिला, तब पता चला कि उनके नाम से खोले गए बैंक खातों में लाखों रुपए जमा कराए तथा निकाले गए। पीडि़त ने सोडाला थाना पुलिस और जयपुर आयुक्तालय स्थित साइबर थाने में इस संबंध में शिकायत की है।