Monday, March 1, 2021

सिर्फ मोटापे से नहीं बल्कि और भी कई कारणों से फूलता है पेट, जानिए लक्षण और उपचार


लाइफस्टाइल डेस्क। मोटापा बहुत बड़ी समस्या है जो ना सिर्फ देखने में बुरा लगता है बल्कि हमारी सेहत को भी प्रभावित करता है। कुछ लोगों मोटापा से नहीं बल्कि मोटे पेट से परेशान रहते हैं। पेट का फूलना मोटापा नहीं ब्लकि पेट में मौजूद गैस है, जिसकी वजह से पेट का आकार बढ़ने लगता है। सामान्य तौर पर खाना खाने के बाद पेट फूला हुआ महसूस होता है। यह समस्या तब आती है जब छोटी आंत के अन्दर गैस भर जाती है। पेट फूलने की समस्या का सीधा संबंध पाचन क्रिया में गड़बड़ी हो सकता है। कुछ लोग इस परेशानी को आम समस्या समझ कर नज़रअंदाज कर देते है, जिसकी वजह से यह गंभीर बीमारी बन जाती है। आइए जानते हैं कि पेट फूलने की समस्या क्या है? उसके लक्षण कौन-कौन से है? इसका उपचार कैसे करें।

पेट फूलना क्या है?

आमतौर पर पेट फूलने का कारण पेट में बनने वाली गैस होती है। जिससे पेट का आकार बढ़ने लगता है। इसे पेट की सूजन भी कहते हैं। सामान्य तौर पर ऐसा खाना खाने के बाद महसूस होता है।

 

पेट क्यों फूलता है?

डाइट में ऐसी चीजें शामिल करना जो पेट में गैस का कारण बन सकती है, उनकी वजह से पेट फूलने की समस्या पैदा होती है। ये समस्या तब आती है जब छोटी आंत के अन्दर गैस भर जाती है।

पेट फूलने के कारण:

ब्लोटिंग कई कारणों से हो सकती हैं जैसे, लाइफस्टाइल में गड़बड़ी, हार्मोनल असंतुलन, बासी भोजन का सेवन, पेट में पानी या फ्लूइड का भर जाना, कब्ज, ज्यादा देर तक भूखे या फिर कई घंटे एक ही जगह पर बैठे रहना, पीरीयड्स आने पर होने वाले शारीरिक बदलाव भी पेट के फूलने का कारण बनते हैं। इसके अलावा दवाइयों का अधिक सेवन या और भी बहुत से कारण हैं जो ब्लोटिंग की वजह हैं। खाने के साथ पानी पीना पेट फूलने का सबसे बड़ा कारण है। अक्सर लोग खाना खाने के साथ-साथ पानी पीते रहते हैं। ये आदत भी गैस ज्यादा बनने और ब्लोटिंग की समस्या के लिए जिम्मेदार हो सकती है। इसलिए खाना खाते समय या इसके तुरन्त बाद पानी न पिएं।

पेट फूलने के लक्षण:

पेट फूलने की बीमारी में सबसे आम लक्षण बेचैनी होना और पेट का भरा हुआ महसूस होना होता है। घबराहट, बेचैनी, पेट में दर्द , कब्ज या दस्त,वजन घटना, थकान, तेज सिर दर्द या कमजोरी, बार-बार गैस बनना, गैस निकलने पर बदबू आना,पेट फूलना और खट्टी डकारे आना, उल्टी जैसा महसूस होना, भूख कम लगना, लगातार हिचकी आना, पेट में ऐंठन होना, कभी-कभी बुखार आना,

पेट फूलने की समस्या से बचने के उपाय:

 

  • आप रोज़ाना कम से कम आठ-दस गिलास पानी जरूर पिएं। इससे पाचन तंत्र अच्छी तरह काम करता है और कब्ज की समस्या नहीं होती।
  • तली और मिर्च-मसाले वाली चीजें खाने से दूरी बना कर रखें। साथ ही नोट करें कि कौन-सी चीज खाने से आपको पेट में जलन व गैस होती है।
  • जंक फूड से दूरी बनाकर रखें।
  • शराब, धूम्रपान और तम्बाकू का सेवन बिल्कुल न करें। ये हमारे पाचन तंत्र को खराब करते हैं, जिससे गैस और एसिडिटी होती है।
  • चाय-कॉफी का सेवन कम से कम करें। इनकी तासीर गर्म होती है, जिस कारण पेट में जलन होती है।
  • प्रतिदिन कम से कम 20-25 मिनट योगासन जरूर करें। इससे पेट के अंदरूनी अंग सही प्रकार से काम करते हैं।
  • रात को खाने के बाद कुछ देर टहलें जरूर। इससे पाचन तंत्र अच्छा रहता है और भोजन भी जल्दी हजम हो जाता है।
  • कार्बोनेटेड ड्रिंक्स और वाइन न पिएं, ये कार्बन डाईऑक्साइड छोड़ती है।
  • पाइप के द्वारा कोई चीज न पिएं बल्कि सीधे गिलास से पिएं।
  • तनाव भी गैस बनने का एक प्रमुख कारण है, इससे दूर रहने की कोशिश करें।
  • खाने को धीरे-धीरे चबाकर खाएं।
  • दिन में तीन बार के बजाए कुछ-कुछ घंटों के अंतराल पर मिनी मील खाएं खाकर तुरन्त न सोएं।

भक्त ने चारभुजा नाथ के 1 किलो चांदी की थाली, कटोरी भेंट की

  भीलवाड़ा ! श्री माहेश्वरी समाज श्री चारभुजा जी मंदिर ट्रस्ट, भीलवाड़ा बड़ा मंदिर चारभुजा नाथ के भक्त ने आज 1 किलो चांदी की थाली एवं भोग लग...