Saturday, March 27, 2021

मोबाइल की बैटरी फटने से बच्चे की मौत


नई दिल्ली । उत्तर प्रदेश के मिर्जापुर में मोबाइल की बैटरी फटने से एक बच्चे की मौत हो गई। ब्लास्ट इतना भयंकर था कि  बच्‍चे के चेहरे का काफी हिस्‍सा धमाके की चपेट में आने से बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गया था। जानकारी के मुताबिक, जिस समय ब्लास्ट हुआ तब बच्चा हाथ में मोबाइल बैटरी लेकर चार्ज करने की कोशिश कर रहा था। अक्सर फोन चार्ज करते समय मोबाइल बैटरी फटने के मामले सामने आते रहते हैं। ऐसे में आज हम आपको उन जरूरी बातों के बारे में बता रहे हैं जिन्हें ध्यान में रखकर इस तरह के हादसों से बचा जा सकता है। 

चार्जिंग के समय न करें ये काम
जब भी फोन को चार्ज कर रहे हों, इस पर बात बिलकुल न करें। साथ ही अगर आप गेमिंग के शौकीन है तो फोन को चार्जिंग पर लगाकर गेम खेलना भी खतरनाक हो सकता है। हमेशा चार्जिंग के समय फोन को रख देना चाहिए, इसका इस्तेमाल करने से बचें। एक विकल्प यह भी है कि आप फोन को स्विच ऑफ करके चार्ज कर लें। 

हमेशा सही चार्जर का करें इस्तेमाल
अक्सर देखा जाता है कि कई लोग फोन के साथ मिलने वाले ओरिजनल चार्जर की जगह किसी भी दूसरे चार्जर का इस्तेमाल कर लेते हैं। अगर आपका ओरिजनल चार्जर खराब हो गया है तो नया चार्जर भी कंपनी से ही खरीदें। दरअसल हर मोबाइल की चार्जिंग सपोर्ट करने की क्षमता अलग-अलग होती है। साथ ही कभी लोकल पावरबैंक का इस्तेमाल भी न करें। 

इन बातों का भी रखें ध्यान
- ओवरहीटिंग से हमेशा बचें। अगर आपका फोन गर्म हो रहा है तो अच्छा होगा कि इसे कुछ देर के लिए इसका इस्तेमाल न करें।
- फोन को अपने पास रखकर सोने से भी बचें। इसे थोड़ी दूर रखकर ही सोएं। 
- फोन को पूरी रात चार्जिंग पर रखकर न छोड़ें। कई बार ओवर चार्जिंग से समस्या हो सकती है। 
- ऐसे ऐप्स का इस्तेमाल न करें जो ज्यादा बैटरी खर्च करते हों।  
- कभी भी फोन में लोकल बैटरी का इस्तमाल न करें। इसमें ब्लास्ट जैसी समस्याएं देखने को मिलती हैं। 

जनसंख्या समाधान फाउंडेशन ने मनाई अंबेडकर जयंती

भीलवाड़ा (हलचल)।  संविधान निर्माता भीमराव अंबेडकर की जयंती पर जनसंख्या समाधान फाउंडेशन के हिमांशु शुक्ला के नेतृत्व में सांगानेर मेडिकल कॉले...